UPSC में दर्जी के दोनों बेटे ने किया कमाल, माँ-बाप ने कपड़ा सिलाई कर एक को बनाया IAS तो दूसरे को बनाया IPS

पिता पेशे से दर्जी, मां भी बंटाती थी सिलाई के काम में हाथ, दोनों भाई बने IPS : आज की कहानी दो सगे भाइयों के एक साथ IPS बनने की है. ये कहानी आईपीएस पंकज कुमावत और अमित कुमावत की है. पंकज और अमित कुमावत साधारण परिवार से हैं. उन्होंने अपनी जिंदगी आर्थिक रूप से मुश्किल में बिताई.

पिता सुभाष कुमावत दर्जी का काम करते थे. मां राजेश्वरी देवी भी पिता के काम में हाथ बंटाते हुए तुरपाई करती थीं. इनका जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा. दुनिया के बाकी मां-बांप की तरह इन्होंने भी अपने बच्चों को अपनी हैसियत से बढ़कर पढ़ाया. बच्चों ने भी मन से पढ़ाई कर के उनकी मेहनत का फल दे दिया. दोनों भाइयों ने पढ़ते हुए एक साथ अधिकारी बनने का सपना देखा और साकार किया. पंकज और अमित ने एक साथ यूपीएससी की सिविल सेवा की परीक्षा पास की.

दोनों भाईयों की पढ़ाई की बात करें तो पंकज व अमित की शुरुआत से 10वीं तक की पढ़ाई राजस्थान के झुंझुनूं में भारती विद्या विहार स्कूल से हुई. फिर झुंझुनूं अकादमी से 12वीं पास की. उन्होंने आईआईटी दिल्ली से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक की. UPSC पास करने सपने को पूरा करने के लिए पैसे की जरूरत थी, इसलिए बीटेक के बाद पंकज ने नोएडा की एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी भी की.

पंकज की नौकरी से परिवार की आर्थिक तंगी कुछ दूर हुई. दोनों भाइयों के साथ इनके माता-पिता ने भी हार नहीं मानी. बच्चों की पढ़ाई के लिए दिन-रात मेहनत कर अपना सिलाई और तुरपाई का काम किया. 2018 में पहले प्रयास में ही दोनों ने एग्जाम पास कर लिया था तब पंकज ने AIR 443, अमित ने 600 पाई थी. पंकज को IPS पद मिल गया था. लेकिन फिर भी परिणाम से दोनों भाई संतुष्ट नहीं थे.

2018 के अपने पहले प्रयास में अमित को आईआरटीएस कैडर मिला था. साल 2019 में फिर से दोनों ने पेपर दिया, दूसरी बार में अमित ने AIR 423 व पंकज ने 424 पाई. दूसरी बार में दोनों को ही आईपीएस कैडर मिला. पंकज पहले से भी आईपीएस थे. दूसरी बार में अमित भी आईपीएस बन गए.

मीडिया को दिए इंटरव्यू में पंकज और अमित ने बताया था, हमारे लिए पढ़ाई मुश्किल नहीं थी, माता-पिता के लिए पढ़ाई का खर्चा उठाना मुश्किल था. वे हम दोनों भाइयों से हमेशा कहते पढ़-लिखकर बड़ा आदमी बनना है. हम हमेशा साथ देंगे.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *