“दे देंगे दू मुक्का, नाच के गिर जाओगे.” लालू ने कभी अर्णब के रिपब्लिक tv के रिपोर्टर को कहा था

अपनी वाक्पटुता और गंवई अंदाज़ से सभी को अपना कायल करने वाले लालू का कोई सानी नहीं है। इसके पीछे का कारण एक बहुत ही चतुर और प्रखर राजनीतिक दिमाग़ है जिसके बदौलत लालू ने ऐसी छवि पाई है।

ऐसा बहुत कम देखा गया है कि लालू कभी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किसी पत्रकार पर भड़के हो। लेकिन रिपब्लिक टीवी के पत्रकार की फूहड़ता ने लालू को भी गुस्साने पर बाध्य कर दिया था।

ये मसला 2017 का है जब लालू यादव राष्ट्रपति पद का कैंडिडेट चुनने के लिए विपक्ष द्वारा बुलाई गई बैठक में शिरकत करने पहुंचे थे। लालू वहां रिपब्लिक चैनल के पत्रकार पर इतने खफा हुए कि उन्होंने साफ साफ कह दिया, ““दे देंगे दू मुक्का, नाच के गिर जाओगे.”

पत्रकार ने लालू यादव से सवाल पूछा कि लालू यादव आपके शहाबुद्दीन से क्या रिश्ते हैं? पत्रकार के इस सवाल पर लालू नाराज हो गये और बोले कि तुम बराबर यही सवाल पूछते हो। इसके बाद पत्रकार ने लालू यादव से पूछा कि आप शहाबुद्दीन से बात करते हैं। पत्रकार का ये सवाल सुनकर लालू यादव के साथ चल रहा एक शख्स बेहद नाराज हो गया और पत्रकार को धक्का दे दिया। इसके बाद इस शख्स ने कहा कि ये पत्रकार फालतू बात बोल रहा है। इतना होने के बावजूद पत्रकार का सवाल पूछना जारी रहा। इसके बाद लालू ने पत्रकार को कहा कि तुम कोर्ट हो क्या, कोर्ट से पूछवा लो, मैं जवाब दे दूंगा, तुम फिजूल की बातें कर रहे हो।

इसके बाद रिपोर्टर ने लालू यादव से रिपब्लिक टीवी के एक दूसरे पत्रकार से उनके द्वारा की गई बदसलूकी के बारे में सवाल पूछा तो लालू यादव फट फड़े। लालू ने कहा कि तुम्हारा वो पत्रकार बदतमीज है। इसके बाद पत्रकार ने कहा कि आपने भी उसके साथ बदतमीजी की थी। इतना सुनते ही लालू यादव चिल्लाकर बोले तुम भी उसी की भाषा बोल रहे हो, दे देंगे दू मुक्का तो नीचे गिर जाओगे। इसके बाद लालू यादव पत्रकार पर चिल्लाने लगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *