प्याज हुआ सस्ता…दिल्ली सरकार 24 रुपये प्रति किलो प्याज बेचेगी

PATNA : महंगाई से जनता को राहत देने के लिए दिल्ली सरकार ने प्याज 24 रुपये किलो की दर से बेचने का फैसला किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को यह जानकारी दी।उन्होंने कहा कि हम प्याज के दाम पर लगातार नजर बनाए हुए हंै।

केजरीवाल कहा कि करीब 24 रुपये किलो के दर से हम प्याज बेचेंगे। इसके लिए सरकार की ओर से जल्द निविदा जारी कर दी जाएगी। दिल्ली में प्याज की कीमत खुदरा बाजार में 60 से 80 रुपये किलो तक पहुंच गई है। दिल्ली सचिवालय में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में मुख्यमंत्री ने कहा कि दो तीन साल पहले भी हमने दाम बढ़ने पर राशन की दुकानों के जरिए प्याज बेचे थे। इस बार भी उस दिशा में काम शुरू हो चुका है।

उन्होंने कहा कि प्याज को नेफेड से लेकर दुकानों तक पहुंचाने के लिए परिवहन साधनों के लिए हम निविदा निकालेंगे। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के मुताबिक नेफेड के साथ इस मुद्दे पर बैठक हो चुकी है। वह रोजाना 200 टन प्याज आपूर्ति करेगा।

arvind kejriwal, DELHI METRO, dailybiharlive, dailybihar।com, national news, india news, news in hindi, latest news in hindi, बिहार समाचार, bihar news, bihar news in hindi, bihar news hindi

प्याज के दाम में भारी उछाल, 50 रुपए किलाे बिक रहा, बारिश से कीमत और बढ़ने की अाशंका : बरसाती माैसम में प्याज की कीमत में भारी वृद्धि ग्राहकाें की जेब पर भारी पड़ रही है। पिछले 3 दिनाें के दाैरान इसमें 60 रुपए प्रति पसेरी तक की वृद्धि हुई है। इसके साथ ही थाेक बाजार में यह 220 से 225 रुपए पसेरी ताे खुदरा मार्केट में 45 से 50 रुपए प्रति किलाे मिल रहा है। हाल यह है कि सब्जी अाैर सलाद से खाने का स्वाद बढ़ाने वाला प्याज अब काटे जाने से पहले ही गृहणियाें काे रुला रहा है।

मिठनपुरा सब्जी बाजार के विक्रेता शंभू महताे ने कहा कि थाेक बाजार में ही अचानक प्याज की कीमत बढ़ गई है। 3 दिन पहले 165 रुपए पसेरी की खरीदारी थी। अब 220 में भी मुश्किल से मिल रहा है। थाेक विक्रेता राजा के मुताबिक, थोक बाजार में प्याज नासिक, सतना, इंदौर से भी पहुंच रहा है। वहां भारी बारिश के कारण प्याज किसानाें काे भारी नुकसान हुअा है।

नासिक में किसान पिछले साल भी भारी नुकसान में थे। इस कारण इस बार प्याज की खेती कम की। इसके बावजूद प्याज थोक में 28 से 30 रुपए प्रति किलो उपलब्ध था। लेकिन, बारिश से हुए नुकसान के बाद कीमताें में अचानक वृद्धि हुई है। वैसे ताे सरकार बाहर से अायात कर कीमत नियंत्रित करने में जुटी है। मगर, अानेवाले दिनाें में इसमें अाैर तेजी अाने की अाशंका है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *