दिल्ली के लक्ष्मी नगर से पाक आतंकी गिरफ्तार, भारी मात्रा में हथियार बरामद; दिवाली पर थी दहलाने की योजना

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने लक्ष्मी नगर के रमेश पार्क से एक पाकिस्तानी आतंकी को गिरफ्तार किया है। वह एक भारतीय नागरिक की फर्जी आईडी के साथ रह रहा था। बताया जा रहा है कि दिवाली और आगामी त्योहारों के आसपास आतंकी हमलों की साजिश में वह शामिल था। इस तरह से दिल्ली पुलिस ने एक बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश करते हुए शहर से खतरे को टालने का काम किया है। स्पेशल सेल ने उसके कब्जे से एक AK-47 राइफल के साथ एक अतिरिक्त मैगजीन व 60 राउंड कारतूस, एक हैंड ग्रेनेड, 50 राउंड कारतूस के साथ 2 अत्याधुनिक पिस्टल बरामद की गई हैं।

गिरफ्तार किए गए आतंकी की पहचान मोहम्मद असरफ उर्फ अली के रूप में हुई है। वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रहने वाला है। उस पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, विस्फोटक अधिनियम, आर्म्स एक्ट और अन्य प्रावधानों के प्रासंगिक प्रावधान के तहत मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल वह दिल्ली के लक्ष्मी नगर के रमेश पार्क इलाके में रह रहा था। पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार कर उसके घर की तलाशी ली तो वहां से कई तरह के हथियार बरामद हुए हैं।

डीसीपी (स्पेशल सेल) प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि पाकिस्तान नागरिक मोहम्मद अशरफ ने फर्जी दस्तावेजों के जरिये भारतीय पहचान पत्र हासिल किया था। वह भारतीय नागरिक के तौर पर रह रहा था।

बता दें कि 29 अक्टूबर 2005 में दिवाली से 2 दिन पहले आतंकियों ने राजधानी दिल्ली 3 अलग-अलग जगहों पर बम धमाके किए। 2 धमाके सरोजिनी नगर और पहाड़गंज जैसे मुख्य बाजारों में हुए, जबकि तीसरा धमाका गोविंदपुरी में एक डीटीसी बस में हुआ था। इसमें करीब 63 लोग मारे गए और 210 लोग घायल हुए थे।

दिल्ली पुलिस को त्योहारी सीजन के दौरान दिल्ली में आतंकवादी हमले के इनपुट मिले हैं। दिल्ली पुलिस ने त्योहारों के मौसम को देखते हुए राजधानी के बाजारों और मॉल सहित भीड़-भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अधिक भीड़ और भीड़भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त ‘पिकेट’ तैनात की जा रही हैं।

एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नाइट पैट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि हमने नाइट पैट्रोलिंग बढ़ा दी है और संवेदनशील क्षेत्रों में पिकेट लगाए गए हैं, किरायेदारों का सत्यापन किया जा रहा है। साइबर कैफे, सिम कार्ड विक्रेताओं और सेकेंड हैंड कार डीलरों का भी सत्यापन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम मेट्रो और मॉल क्षेत्रों सहित शहर भर में पार्किंग स्थानों की व्यापक जांच कर रहे हैं। अधिक भीड़-भाड़ वाले बाजार जहां दुकानों के मालिक अपना सामान बाहर रखते हैं, उन्हें भी संवेदनशील बनाया जा रहा है तथा उन्हें और अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए कहा जा रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *