धनतेरस पर धनवर्षा, पटना में 980 करोड़ से अधिक का कारोबार, देर रात तक होती रही डिलिवरी

PATNA : धनतेरस पर गुरुवार को बाजार में खूब धनवर्षा हुई। राजधानी में करीब 980 करोड़ का कारोबार हुआ। देर रात तक ज्वेलरी, वाहन, बर्तन के साथ ही इलेक्ट्रॉनिक सामान और होम अप्लायंसेस की बिक्री और डिलिवरी हुई। आभूषण बाजार में सबसे ज्यादा रौनक रही। करीब 310 करोड़ की ज्वेलरी की बिक्री हुई। वहीं 270 करोड़ से अधिक के इलेक्ट्रॉनिक सामान और होम अप्लायंसेस की बिक्री हुई। करीब 205 करोड़ की गाड़ियों का कारोबार हुआ। फर्नीचर व होम फर्निशिंग्स से जुड़े सामान की करीब 37 करोड़ की बिक्री हुई। बर्तन बाजार में 10 करोड़ का कारोबार हुआ। अन्य सेक्टर में भी करीब 108 करोड़ का कारोबार हुआ। कोरोना को लेकर बाजार के सुस्त रहने की तमाम आशंकाएं पूरी तरह गलत साबित हुईं।

इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार पर जबरदस्त रंग दिखा। आदित्य विजन सहित अन्य दुकानों पर देर रात तक लोग खरीदारी करते रहे। टीवी, वाशिंग मशीन के अलावा लोगों ने फ्रिज व एसी की खरीदारी की। आदित्य विजन के कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन सह मार्केटिंग मैनेजर गौरव झा ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक व होम अप्लायंसेस के सामान खूब बिके। शोरूम में खरीदारी के साथ ग्राहकों को सबसे बेहतर आफ्टर सेल सर्विस मिल रही है।
चारपहिया वाहनों का स्टॉक खत्म: राजधानी के लगभग सभी डीलरशिप में चारपहिया वाहनों स्टॉक खत्म हो गया। विभिन्न एजेंसियों में 2 हजार से अधिक चारपहिया वाहनों की बिक्री हुई। वहीं करीब 6 हजार दोपहिया वाहन बिके। कई शोरूम पर दोपहिया वाहनों का स्टॉक भी खत्म हो गया। फोर्ड एडविक के जीएम सविंद्र कुमार ने बताया कि बाजार में सुबह से ही गाड़ियों की डिलिवरी शुरू हुई तो देर रात तक चलती रही। कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम और बच्चों के ऑनलाइन क्लास के ट्रेंड ने मोबाइल और कंप्यूटर के कारोबार को बढ़ा दिया। स्मार्टफोन के साथ करीब 40 करोड़ के कंप्यूटर और लैपटॉप की बिक्री हुई। घर में इंटरनेट स्पीड बढ़ाने वाले उपकरण भी खरीदे गए।

उम्मीद के मुताबिक हुआ कारोबार
धनतेरस पर कारोबार उम्मीद के मुताबिक हुआ। कोरोना को लेकर लोगों के जीवन और दिनचर्या में आए बदलाव का असर बाजार पर दिख रहा है। लोग इस बार त्योहारों में भी रोज की जरूरत का सामान खरीद रहे हैं। -पीके अग्रवाल, अध्यक्ष, चैंबर ऑफ कॉमर्स

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *