राम मंदिर निर्माण के खुशी में पटना में मनी दिवाली, घरों में जले दीये, रंगबिरंगी रोशनी से जगमग हुए मंदिर

Patna: जैसा त्रेता में प्रभु राम व परमभक्त हनुमान का रिश्ता था, वैसा ही नाता अब अयोध्या के श्रीराम मंदिर और पटना के महावीर मंदिर में रहेगा. महावीर मंदिर ट्रस्ट के सचिव आचार्य किशोर कुणाल अब जहां राममंदिर के गर्भगृह का निर्माण सोने से कराने को प्रयासरत हैं वहीं इससे पहले रामलला के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सबसे पहले महावीर मंदिर ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण के लिए 10 करोड़ देने और रामभक्तों के लिए राम रसोई चलाने की घोषणा की थी.

सोने के गर्भगृह के निर्माण को लेकर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से आचार्य की बात चल रही है. संभव है एक-दो दिन में इस संदर्भ में निर्णय हो जाए. इसी वजह से वे अभी अयोध्या में ही रुके हैं. पटना का महावीर मंदिर रामानंद संप्रदाय कर अंग है जिसका मुख्यालय अयोध्या में है. यहां मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा से लेकर हर आयोजन में अयोध्या के ही महंत-पुजारी आते हैं. अयोध्या के वैरागी साधु ही यहां मंदिर में पूजा करते हैं. महावीर मंदिर ट्रस्ट पटना के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने भूमिपूजन समारोह के बाद दैनिक भास्कर से विशेष बातचीत में कहा कि सब कुछ राम जी के पक्ष में हो जाएगा, एक साल पहले तक ऐसा नहीं लग रहा था. 1990 से श्री रामजन्म भूमि से जुड़ा हुआ हूं. आज वाकई में नए युग की शुरुआत हुई है. बहुत आनंद आया. भूमिपूजन समारोह में बिहार से आचार्य किशोर कुणाल व ट्रस्टी के तौर पर कामेश्वर चौपाल को भाग लेने का सौभाग्य मिला.

अयोध्या में महावीर मंदिर की ओर से सेवा

कैमूर के गोविंद भोग चावल से रामलला का भोग लगता है
पटना महावीर मंदिर में मिलने वाला तिरूपति का नैवेद्यम लड्‌डू अयोध्या में रघुपति लड्‌डू के नाम से उपलब्ध कराया जा रहा है.
भूमि पूजन समारोह के दौरान सवा लाख लड्‌डू वितरण के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को उपलब्ध कराया गया.
भूमि पूजन समारोह में आए तीन हजार लोगों को अमावा मंदिर परिसर में महावीर मंदिर की ओर से भोजन कराया गया.
यहां हुए आयोजन: बिहार प्रादेशिक अग्रवाल महिला सम्मेलन की महिलाओं ने अपने घरों में दिवाली की तरह रंगोली बनाई. अध्यक्ष डॉ. गीता जैन ने कहा कि श्रीराम का मंदिर 500 साल के बाद बन रहा है. श्री राधाकृष्ण प्रणामी मंदिर परमहंस पीठ सत्संग धाम राजापुर प्रांगण में दिनभर भजन-कीर्तन हुए और शाम में दीप प्रज्जवलन हुआ. बैंक रोड स्थित शक्तिधाम में 251 दीप प्रज्ज्वलित किए गए और पांच किलो लड्डू का भोग लगा. कदमकुआं शिवमंदिर में करीब 2100 दीए जलाए गए.

विजय नगर स्थित मानस मंदिर परिसर में स्थित लक्ष्मी मंदिर और पूरे परिसर में भाजपा कला संस्कृति मंच की ओर से 500 से अधिक दीए जलाए गए. ट्रांसपोर्ट नगर स्थित ओंकारनाथ मंदिर में भी दीपोत्सव का आयोजन हुआ. राजवंशीनगर स्थित पंचरूपी हनुमान मंदिर, दारोगा प्रसाद राय पथ स्थित श्रीराम जानकी मंदिर, राजापुर पुल स्थित श्री राधाकृष्ण प्रणामी मंदिर परमहंस पीठ सत्संग धाम, कंकड़बाग स्थित पंच शिवमंदिर, पातालेश्वर महादेव मंदिर, रामनगरी मोड़ शिव मंदिर समेत शहर के अधिकतर मंदिरों में उत्सव मनाया गया.

मंदिर का निर्माण पूरा होने तक चैन नहीं : चौपाल

विधायक डॉ संजीव चौरसिया के नेतृत्व में खाजपुरा में श्रीश्री महाशिवरात्रि महोत्सव शोभायात्रा अभिनंदन समिति ने दीप प्रज्ज्वलन का आयोजन किया. कार्यक्रम की शुरुआत रामतीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने अयोध्या से जय श्रीराम के जयघोष के साथ की. ऑनलाइन वार्ता में कामेश्वर चौपाल ने भूमिपूजन के बारे में विस्तार से बताया. उन्होंने कहा कि आज अयोध्या नगरी देखते ही बन रही है. उन्होंने कहा कि हम तब तक चैन से नहीं बैठ सकते, जब तक अयोध्या में भव्य मंदिर का निर्माण पूरा नहीं हो जाता. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने रामभक्तों को बधाई दी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *