बिहार की एक महिला DM की की वर्क स्टाइल के कायल हुए PM मोदी, जमकर तारीफ

बिहार के पिछड़े जिले की महिला DM ने किया ऐसा काम कि PM नरेंद्र मोदी भी हुए फैन, तारीफ में कही ये बात : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार की एक महिला जिलाधिकारी की सराहना की है. जिस महिला डीएम को पीएम से सराहना मिली हैं उनका नाम है इनायत खान और वो बिहार के एक छोटे से जिले शेखपुरा की डीएम (Sheikhpura DM Inayat Khan) हैं. इस जिले की गिनती बिहार के पिछड़े जिलों में होती है. दरअसल देश के जिन 113 जिलों में आकांक्षा योजना चल रही है, उसमें बिहार का शेखपुरा भी शामिल है और यहां इस योजना के तहत बेहतर काम हुआ है.

प्रधानमंत्री ने माना कि युवा जिलाधिकारी इनायत खान (IAS Inayat Khan) द्वारा बेहतर काम करने से ही बिहार के शेखपुरा जिले में यह बदलाव सामने आया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के आकांक्षी जिलों यानी एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट में शामिल बिहार के शेखपुरा जिले के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए यहां की जिलाधिकारी इनायत खान द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की गई है. वर्चुअल बातचीत में प्रधानमंत्री ने शेखपुरा में कुपोषण के क्षेत्र में जिला स्तर पर किए गए बेहतर प्रयासों की सराहना की और कहा है कि अति पिछड़े जिलों को आकांक्षी जिले के रूप में चिन्हित करने से यह काम बेहतर तरीके से हो रहा है.

शेखपुरा जिला की बात करें तो इस जिले में गंभीर दुबलेपन में कमी आई है और इसका सूचकांक 10.8 प्रतिशत से घटकर 7.7 प्रतिशत हो गया है. दुबलेपन में भी कमी आ गई है और सूचकांक 28.9 प्रतिशत से घटकर 16.3 प्रतिशत हो गया है वहीं वजन का सूचकांक 51. 7 प्रतिशत से घटा है और यह 37 .6 प्रतिशत हो गया है. शेखपुरा के आकांक्षी जिला के रूप में चयनित होने पर नीति आयोग के प्रतिनिधि के तौर पर पीरामल फाउंडेशन ने स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में जिले में बेहतर काम किया है.

शेखपुरा जिले में आंगनबाड़ी केंद्रों पर गोद भराई की रस्म गर्भवती महिलाओं के लिए होती रही है. हरी साग सब्जी से लेकर आयरन की गोली फल फूल देकर गोद भराई की रस्म पूरी की गई और गर्भवती सहित गांव की सभी महिलाओं को पौष्टिक आहार लेने के लिए प्रेरित किया गया. नवजात शिशु के 6 महीने का हो जाने पर अन्नप्राशन समारोह का भी आयोजन किया जाता है. इस मौके पर नवजात को अनग्रहण कराया जाता है, इसको सामाजिक बदलाव के रूप में रेखांकित करने के लिए समारोह का आयोजन होता है. इस तरह के समारोह में बच्चों को कुपोषण से दूर करने के लिए सभी तरह के पोस्टिक आहार सामने लाए जाते हैं

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और Whattsup, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.