सरकारी हॉस्पिटल में DM की पत्नी ने दिया बच्चे को जन्म, सरकारी स्कूल में पढ़ती है बेटी

डीएम ने जिला अस्पताल में कराया पत्नी का प्रसव, इसके पहले बेटी का सरकारी स्कूल में कराया था दाखिला

कबीरधाम के जिला कलेक्टर अवनीश कुमार शरण अपनी पहल को लेकर काफी चर्चा में रहते हैं। कुछ समय पहले अवनीश ने अपनी बेटी का दाखिला सरकारी स्कूल में करा कर सबका ध्यान अपनी ओर खींचा था, इस बार भी अवनीश अपनी एक और सराहनीय पहल को लेकर चर्चा में हैं।

सरकारी अस्पताल में हुआ है डीएम अवनीश कुमार शरण की बेटी का जन्म कबीरधाम जिले के कलेक्टर अवनीश कुमार शरण पहले भी चर्चा में रहे हैं, वहीं उन्होने इस बार अपनी पत्नी का प्रसव जिला अस्पताल में करवा कर लोगों के सामने एक मिसाल पेश की है। बीते रविवार को जिला अस्पताल में कलेक्टर की पत्नी रुद्राणी सिन्हा ने एक बेटी को जन्म दिया है।

बेटी के जन्म के बाद जिला अस्पताल प्रसासन ने परिसर में मिठाई भी बांटी। अविनाश का यह कदम न सिर्फ आम लोगों के बीच सरकारी अस्पताल को लेकर बनी धारणा को बदलने का काम करेगा, बल्कि सरकारी अस्पताल के प्रति लोगों का रुझान भी बढ़ेगा। नई दुनिया से बात करते हुए अविनाश कुमार शरण ने बताया कि उनके इस कदम से लोगों के बीच सरकारी अस्पताल को लेकर जागरूकता बढ़ेगी।

अविनाश कहते हैं कि “सरकारी अस्पतालों में सारी सुविधाएं मौजूद हैं, ऐसे में प्रसव कराने के लिए सरकारी अस्पताल बेहतर हैं।” कलेक्टर अविनाश कुमार शरण अपने इस कदम के साथ लोगों के बीच प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के प्रति भी लोगों को जागरूक करना चाहते हैं।

गौरतलब है कि केंद्र की इस योजना के तहत प्रसव पर 5 हज़ार रुपये की राशि मिलती है। लोगों के बीच सरकारी अस्पताल को लेकर जागरूकता पहुंचे, इसके लिए कलेक्टर यह कदम काफी कारगर साबित होगा। पहले भी की थी सराहनीय पहल कलेक्टर अवनीश कुमार शरण इसके पहले अपनी बेटी का सरकारी स्कूल में दाखिला कराकर चर्चा में आए थे।

अनवीश कुमार की बेटी ने शुरुआती शिक्षा भी आँगनबाड़ी से ग्रहण की थी। प्रेरणा से भरी हुई है यात्रा अवनीश ने इसके पहले दसवीं का रिज़ल्ट आने के साथ ही अपना दसवीं का रिज़ल्ट भी सोशल मीडिया पर जारी कर दिया था, जिसमें उनके कम नंबर आए थे। अपने रिज़ल्ट के माध्यम से उन्होने छात्रों को कम नंबर आने पर निराश न होने का संदेश दिया था। अवनीश ने कुछ समय पहले ही लोगों की समस्याओं तक सीधे जुडने के लिए सोशल मीडिया पर अपना व्हाट्सऐप नंबर भी शेयर किया था।

साभार : योर स्टोरी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *