श्राद्ध के दिनों में यह 5 काम भूलकर भी ना करें, ऐसा करने से होता है भारी नुक्सान

New Delhi: पितृपक्ष यानी की श्राद्ध का पक्ष, हमारे पुराणों में कुछ ऐसी मान्यता है इस ख़ास दिन पर कोई नया काम नहीं करना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि, पितृपक्ष यानी वो जब हमारे पूर्वज इस दुनिया को छोड़कर गए थे और इसलिए इस ख़ास दिन पर हम उनको यादकर पूजते हैं। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जो आपको इस खास दिन पर नहीं करनी चाहिए। नए कपड़े खरीदने से लेकर कुछ भी शुभ कार्य पितृपक्ष के दौरान नहीं करना चाहिए, जाने वह 5 अहम बातें जो आपको श्राद्ध के दिनों में नहीं करनी चाहिए।

1. लोगो की कुछ ऐसी भी मान्यता है की इन दिनों में ब्रह्मचार्य का पालन करना चाहिए यानी की स्त्री पुरुष संसर्ग से बचना चाहिए। इसके पीछे का यह कारण है की आपके पितृ इन दिनों में आपके घर पर होते है और इस समय उनके प्रति श्रद्धा प्रकट करने का समय होता है, इसीलिए इन दिनों में संयम का पालन करना अनिवार्य है।

2. पितृपक्ष के दिनों में द्वार पर आये अथिति या तो याचको को बिना भोजन पानी दिए जाने नहीं देना चाहिए, ऐसा इसीलिए की पितृ किसी भी रूप में श्राद्ध मांगने आ सकते है, इसीलिए हमें घर पर आये किसी भी व्यक्ति का अनादर नहीं करना चाहिए।

3. ऐसी भी मान्यता है की इन दिनों में नया घर भी नहीं लेना चाहिए, इसके पीछे का कारण है कि इसी स्थान पर मतलब की आपके पुराने घर पर पितृओ की ऑत्मा निकली होती है, ऐसे में वह उसी स्थान पर वापिस लौटते है और जब वे वहा पर आते है और परिवार वाले उस जगह पर नहीं मिलते तो उन्हें तकलीफ पहुचती है, यही कारण है की इन दिनों में आपको घर नहीं बदलना चाहिए और नाही नया घर लेना चाहिए।

4. पितृपक्ष में सोने की और कपडे की खरीदारी नहीं करनी चाहिए, क्योंकि ये समय किसी उत्सव का नहीं बल्कि शोक मनाने का समय होता है क्योंकि वो हमारे बीच अब नहीं रहे। 5. इन दिनों में दाढ़ी मूंछें भी नहीं बनवानी चाहिए क्योकि इसका संबंध भी शोक करने से सम्बंधित होते है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.