एक इंग्लिश स्कूल का सख्त नियम, कहा— यहां सिर्फ और सिर्फ गरीब बच्चों का एडमिशन लिया जाएगा

यह कहानी एक अंग्रेजी स्कुूल की है। एक छोटे से गांव में इसे खोला गया है। अपनी गुणवत्ता के कारण यह बहुत कम समय में फेमस हो चुका है। यही कारण है कि इस विद्यालय में सभी अपने बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं। विडंम्बना यह है कि इस स्कूल ने अन्य हाईफाई स्कूलों की तरह कई सारे नियम बना रखे हैं। इनमे से एक नियम है कि इस विद्यालय में सिर्फ और सिर्फ गरीब लोगों को बच्चे पढ़ सकते हैं। इसके लिए विधिवत टीचर बच्चों के घर जाते हैं और उनकी आर्थिक स्थिति का अवलोकन करते हैंं।

गरीब बच्चों को मुफ्त पढ़ाई, घर में टीवी-फ्रिज भी हो तो दाखिला नहीं, स्कूल में प्रवेश से पहले घर का सर्वे

नवा रायपुर के राखी गांव में एक स्कूल है। पढ़ाई इंग्लिश मीडियम में पर पूरी तरह मुफ्त, सुविधाएं किसी शीर्ष निजी स्कूल जैसीं… पर एडमिशन सिर्फ गरीब बच्चों को ही मिलता है, वह भी सिर्फ केजी-1 में। इसके मापदंड भी बाकी स्कूलों से जुदा हैं। न तो बच्चे का टेस्ट लिया जाता है न माता-पिता का। यहां दाखिले के पहले बच्चे के घर जाकर देखा जाता है कि उसके घर मोटरसाइकिल, कूलर, फ्रिज, वॉशिंग मशीन और टीवी तो नहीं है, जिस बच्चे के घर ये सुविधा मिली, उसे प्रवेश नहीं मिलता। आमतौर पर स्कूलों में एडमिशन के लिए टेस्ट के आधार पर टॉप लिस्ट तैयार करने के बाद प्रवेश दिया जाता है, पर यहां एडमिशन के लिए गरीबी की टॉप लिस्ट बनाने का सिस्टम है।

इसके लिए स्कूल की सर्वे टीम पूरे साल घूमती है। सर्वे के दौरान जहां 5 से 6 साल तक के बच्चे मिलते हैं, उन परिवारों की कुंडली बनाई जाती है। स्कूल प्रबंधन ने नवा रायपुर के प्रभावित 41 गांवों का चयन किया है। अब तक 24 गांवों का सर्वे कर वहां के बच्चों को स्कूल में लिया गया है। हर साल 70 सीटों पर एडमिशन दिया जाता है। इसके लिए सर्वे के आधार पर 200 गरीब परिवारों का चयन किया जाता है। प्रवेश के पहले उन 200 परिवारों की हिस्ट्री देखी जाती है। कम सुविधाओं वाले परिवारों के बच्चों को मौका देते हैं। इसके अलावा जिन बच्चों के माता-पिता साक्षर या बेहद कम पढ़े लिखे हैं, उनके परिवारों के बच्चों को भी प्राथमिकता दी जाती है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.