1 करोड़ में बिका सांड, 1 हजार में बिकता है इसके स्पर्म का एक डोज, जानें क्यों है इतना खास

बैंगलोर:  बैंगलोर में 11 नवंबर को चार दिवसीय कृषि मेले (Krishi Mela 2021) का आयोजन किया गया. आज मेले के आखिरी दिन कृष्णा सांड (Krishna bull) चर्चा में बना रहा. कृष्णा को देखने और खरीदारों की भीड़ उमड़ी रही. साढे़ तीन साल का यह सांड, सांड खरीदरों की पहली पसंद बना रहा. सांड मालिक बोरेगौड़ा ने बताया कि यह हल्लीकर नस्ल का सांड है. इस कृषि मेले को काफी अत्याधुनिक तरीके से आयोजित किया गया था. लोग इसमें शारिरिक और वर्चुअली दोनों तरह से भाग ले सकते थे.

बैंगलोर मे यह मेला चार दिनों के लिए आयोजित किया गया था. यह कृषि मेला हर साल किसी न किसी वजह से चर्चा में बना रहता है. इस  बार कृष्णा सांड लोगों का प्रमुख आकर्षण केंद्र रहा. सांड मालिक ने बताया कि हल्लीकर नस्ल के सांड  के स्पर्म यानी वीर्य की काफी ज्यादा डिमांड होती है. उन्होंने कहा कि वह इसके वीर्य की एक डोज 1 हजार रुपये में बेचते हैं.

बोरेगौड़ा ने कहा कि हल्लीकर नस्ल के जितने भी मवेशी होते हैं वे ए2 प्रटोन वाले दूध के लिए जाने जाते हैं. सांड मालिक ने बताया कि अब यह प्रजाति धीरे धीरे लुप्त होती जा रही है. कृष्णा सांड को खरीदने के लिए व्यापारियों ने हजार, लाख नहीं करोड़ रुपये तक की बोली लगाई. सांड मालिक ने बताया कि मेले में एक खरीदार ने कृष्णा सांड को 1 करोड़ रुपये में खरीदा.

कृष्णा की बोली की खुशी सांड मालिक के चेहरे पर साफ तौर पर देखी जा सकती थी. बोरेगौड़ा ने कहा कृष्णा की उम्र भले ही साढे़ तीन साल की है लेकिन इसने अपने से बड़े उम्र के सांडों को पीछे छोड़ दिया. बोरे गौड़ा के मुताबिक यहां लगने वाले मेले में सामान्य तौर पर 1 से 2 लाख के बीच में ही सांड बिकते हैं. इतनी बड़ी बोली सांड के लिए कभी नहीं लगी. उन्होंने बताया कि इस नस्ल के सांड की खासियत होती है कि उनका वजन 800 से 1000 किलोग्राम तक होता हैत और 6.5 फीट से लेकर 8 फीट तक की होती है.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *