JDU में शामिल होंगे लालू के करीबी रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री फातमी, तेजस्वी को लेकर कही थी ये बड़ी बात

पूर्व केंद्रीय मंत्री और राजद से बागी हुए नेता अली अशरफ फातमी जेडीयू में शामिल होंगे। फातमी ने रविवार को दरभंगा में इस बात की घोषणा की। उत्तर बिहार (मिथिला ) के कद्दावर मुस्लिम नेता ने कहा कि वो लाखों कार्यकर्ताओं के साथ जदयू की सदस्यता लेंगे। वे दरभंगा स्थित अपने आवास पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया को जानकारी दी ।

कभी लालू यादव के करभी रहे अली अशरफ फातमी ने चुनाव से पहले राजद के विरोध में आवाज उठाई थी। राजद से टिकट कटने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री फातमी ने मधुबनी लोकसभा क्षेत्र से बसपा के टिकट पर नामांकन दाखिल किया था। बागी बनने के बाद पार्टी ने न केवल उन पर कार्रवाई की थी बल्कि फातमी को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित भी कर दिया था।

Image result for फातमी

पार्टी से निष्कासित किए जाने के बाद फातमी ने तेजस्वी पर हमला बोलते हुए कहा था कि उनकी जितनी उम्र है उससे अधिक समय वे राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा था कि राजद में उन जैसे नेताओं की कोई पूछ नहीं। फातमी दरभंगा से कई बार सांसद रह चुके हैं लेकिन इस बार उनका पत्ता कट गया जिसके बाद उन्होंने मधुबनी सीट से दावेदारी ठोंकी लेकिन ये सीट वीआईपी के खाते में गई थी।

फातमी ने आरजेडी पर सवाल उठाते हुए कहा था कि यह कैसा नियम है कि तेजप्रताप यादव खुलेआम पार्टी से बगावत कर अपना उम्मीदवार घोषित करते हैं और जहानाबाद में अपने उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार करते हैं लेकिन पार्टी की कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं होती। हमने तो अभी तक कोई पार्टी विरोधी काम या अपने वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ कोई बयानबाजी भी नहीं की थी। फिर इस तरह का अन्याय क्यों? उन्होंने कहा कि जिस पार्टी में दो तरह का संविधान हो वहां रहना जायज नहीं। लिहाजा वे पार्टी से खुद ही इस्तीफा दे रहे हैं। फातमी ने कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद भेज दिया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *