गया में भक्तों को साक्षात दर्शन देते हैं सूर्य भगवान, इस कुंड में स्नान करने से दूर होती हैं बिमारियां

PATNA: बिहार में छठ पूजा को लेकर धूम है। व्रत को लेकर लोगों की आस्था और उत्साह पूरे चरम पर है।गया के अति प्राचीन सूर्यनारायण मंदिर और सूर्य कुंड में भी छठ की तैयारियां जोरों से चल रही है। यूं तो यहां सालों भर भक्तों की भीड़ लगी रहती है पर छठ के दौरान यहां शहर के साथ ही बाहर से भी आ कर हजारों लोग पूजा पाठ करते हैं एवं भगवान सूर्य को अर्घ्य देतें हैं।

इस कुंड में स्नान करने से कुष्ठ जैसे शारीरिक विकार भी दूर हो जाता है। ऐतिहासिक विष्णुपद मंदिर और पवित्र देवघाट से कुछ ही दूरी पर अवस्थित सूर्य नारायण मंदिर और उसके सामने बने सूर्य कुंड को अति प्राचीन माना जाता है। यहां के बारे में कई तरह की कहानियां प्रसिद्ध हैं जिसमें मंदिर में पूजा करने और कुंड मे स्नान करने से कुष्ठ जैसी गंभी शारीरिक विकार दूर हुए हैं।

इन कहानियों की वजह से यहां छठ महापर्व के दौरान मंदिर में पूजा करने और कुंड में अर्घ्य देने के लिए शहर के साथ ही दूसरे इलाकों से भी लोग आतें हैं। इस साल छठ महापर्व के अवसर पर आयोजन समिति ने विशेष तैयारी की है जिसमें सूर्य कुंड के बीचोबीच भगवान सूर्य की प्रतिमा स्थापित करने के साथ ही विशेष भंडारा की व्यवस्था की जायेगी।

स्थानीय लोगों के साथ ही जिला प्रशासन भी यहां की साफ-सफाई एवं सुरक्षा को लेकर विशेष इंतजाम करने की तैयारी कर रही है। ऐसे में यह उम्मीद की जा सकती है यहां आने वाले हजारों लोग अपनी आस्था और श्रद्धा के साथ महापर्व छठ को मना सकेगें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.