घर बनाना हुआ मुश्किल, बालू-गिट्टी और लोहा-ईट की कीमतों में 25% बढ़ोत्तरी, सीमेंट का भी बुरा हाल

PATNA-निर्माण सामग्री की कीमतों में बढ़ोतरी से घर बनाना हुआ मुश्किल, लोग परेशान, एक साल में 25 तक बढ़े ईंट, सीमेंट और बालू के दाम, पिछले एक साल में बढ़ीं कीमतें : हनुमान नगर के राकेश रंजन ने पिछले साल मई में ही अपने घर के निर्माण की शुरुआत की। उस समय बाउंड्री व छोटे कार्यों के लिए उन्होंने बालू 2800 रुपये 100 सीएफटी, छड़ 6500 रुपये क्विंटल, गिट्टी 6000 रुपये 100 सीएफटी और सीमेंट अल्ट्राटेक एफ2आर 392 रुपये प्रति बोरा खरीदा था। बैंक लोन मिलने में देरी की वजह से बीच में काम रूक गया। दोबारा उन्होंने एक महीने पहले अपना गृह निर्माण शुरू किया। जब वे मोहल्ले की दुकान में निर्माण सामग्रियों की खरीद करने पहुंचे तो भाव सुनकर उनके पांव तले की जमीन खिसक गई।

उन्होंने बताया कि ईंट से लेकर बालू तक के दामों में 15 से लेकर 25 प्रतशत की बढ़ोतरी सुनकर कानों पर पहले विश्वास नहीं हुआ। कई दूसरे दुकानों से भी दाम पता किए तब उनको बढ़े दामों पर यकीन हुआ। हाजीपुर के ईंट निर्माता और विक्रता केतन जी ने बताया कि एक साल पहले 1500 ईंट वे 14500 रुपये लेकर घर तक पहुंचाते थे। लेकिन अब उसके लिए वे 16500 से 17000 रुपये ग्राहक से ले रहे हैं। इसी तरह ईंट के दाम में लगभग 1500 से 2200 रुपये तक की बढ़ोतरी हुई है। बालू के दाम पिछले एक वर्ष में 2800 रुपये 100 सीएफटी से बढ़कर 4000 रुपये, गिट्टी के दाम 6200 प्रति 100 सीएफटी से बढ़कर 8000 रुपये और सीमेंट के दामों में लगभग प्रति बोरा 50 रुपये की बढ़ोतरी पिछले एक साल में हुई है।

महंगाई के बड़े कारण: ईंट व्यवसायी केतन ने बताया कि पिछले वर्ष एक ट्रक कोयला तीन लाख रुपये प्रति ट्रक मिलता था। अब यह साढ़े पांच लाख से छह लाख रुपये प्रति ट्रक हो गया है। मिट्टी, मजदूरी और डीजल के दामों में बढ़ोतरी के कारण ईंट का भाव बढ़ाना मजबूरी हो गई है। बताया कि बढ़े दाम के कारण ईंट बिक्री पर भी असर पड़ रहा है। लोहा व्यवसायी रमेश गुप्ता ने बताया कि डीजल, कोयला के दाम में बढ़ोतरी और यूक्रेन युद्ध के कारण पूरे विश्व में लोहे के उत्पादन में गिरावट आई है। मांग बढ़ने के कारण दाम बढ़ रहा है। गिट्टी की ढुलाई व थ्रेसर का संचालन भी डीजल के कारण महंगा पड़ रहा है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.