पंचायती राज विभाग में 1730 पदों पर नियुक्तियां होंगी

पंचायती राज विभाग में 1730 पदों पर नियुक्ति होगी। इनमें 1208 पदों पर नियमित तो शेष पर संविदा आधारित नियुक्ति की जाएगी। नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जो अभी अलग-अलग स्तर पर हैं। नियमिति पदों पर नियुक्ति बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) से, जबकि संविदा वाले पदों पर योग्य अभ्यर्थियों का चयन विभाग स्वयं कमेटी बनाकर करेगा।

प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी के 477 पद : प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारियों के 477 पदों पर नियुक्ति होनी है। इसमें 188 ऐसे पद हैं, जिनके सृजन पर मुहर पिछले सप्ताह की कैबिनेट की बैठक में लगी। अन्य 289 प्रखंड पंचयात राज पदाधिकारी के पद पहले से रिक्त थे, जिनकी नियुक्ति के लिए प्रस्ताव बीपीएससी को विभाग भेज चुका है। नये पदों का प्रस्ताव भी विभाग जल्द ही आयोग के भेजेगा। 239 प्रखंड पचंयात पदाधिकारी अभी कार्यरत हैं। नई नियुक्ति होने के बाद बड़े प्रखंडों में दो पदाधिकारियों का पदस्थापन होगा।

25 पंचायतों पर होंगे एक ऑडिटर: इसी तरह 589 ऑडिटरों की नियुक्ति पर कैबिनेट की मुहर लग चुकी है। नियुक्ति का प्रस्ताव भी बीपीएससी को भेजा जा रहा है। 25 ग्राम पंचायतों पर एक ऑडिटर रखे जाएंगे। इसके अलावा जिला और राज्य स्तर के भी ऑडिटरों के पद होंगे। इनके अलावा जिला परिषद और प्रशिक्षण संस्थानों में 103 पदों पर नियुक्ति होगी। राज्य में कुल 8386 ग्राम पंचायतें हैं।

दो प्रखंडों पर होंगे एक मॉनिटर हर दो प्रखंडों पर एक क्वालिटी मॉनिटर की नियुक्ति संविदा पर होगी। इसमें अवकाश प्राप्त अभियंताओं और प्रशासनिक पदाधिकारियों को रखा जाएगा। इसके लिए 21 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन की मांग की गई है। वहीं इसी तरह राज्य और जिला प्रबंधन इकाइयों में 234 पदों पर विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों की नियुक्ति होनी है, जिसके लिए करीब 4500 आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। इसके आवेदनों की स्क्रूटिनी की जा रही है। शीघ्र ही इनका साक्षात्कार लिया जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.