होली के अवसर पर लगा ‘लाकडाउन’, नीतीश सरकार ने जारी किया सरकारी आदेश

सिर्फ घरों में ही खेल सकेंगे होली; क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में फैसले के बाद जारी हुआ आदेश : होली के दिन सार्वजनिक स्थलों पर एकत्रित होकर किसी भी प्रकार की गतिविधि व आयोजन की अनुमति नहीं होगी। होलिका दहन के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा। शब-ए-बारात पर भी एक स्थान पर अधिक लोगों के एकत्र होने की अनुमति नहीं होगी। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है। कोरोना के मद्देनजर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद और डीजीपी एसके सिंघल ने शनिवार को इस बाबत संयुक्तादेश जारी किया। सभी जिलों के डीएम, एसपी के अलावा प्रमंडलीय आयुक्त, क्षेत्रीय आईजी, डीआईजी को मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग के पालन और हैंड सेनेटाइजिंग का अनुपालन कराने का निर्देश दिया गया है।

राज्य में }33 जिलाें में पहुंचा संक्रमण,195 नए मरीज मिले
राज्य में शनिवार को कोरोना के 195 नए केस मिले। एक्टिव मरीजों की संख्या भी बढ़कर 1115 हो गई है। चिंता की बात यह है कि राज्य की रिकवरी दर 99% से घटकर 98.98% हो गई है और काेरोना का प्रसार 31 से 33 जिलों तक पहुंच गया है। हालांकि नए केस शुक्रवार से घटे हैं। शुक्रवार को 211 नए मरीज मिले थे। पटना जिले में शनिवार को पटना में 80 नए संक्रमित मिले, जो शुक्रवार से 14 अधिक है। राहत की बात यह है कि शनिवार को केवल पटना जिले में ही संक्रमितों की संख्या दो अंकों में मिली है। राज्य के बाकी 32 जिलों में काेरोना संक्रमितों का आंकड़ा 10 से नीचे रहा।

क्रिकेट के भगवान सचिन भी अछूते नहीं, संक्रमित
पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर शनिवार को कोरोना संक्रमित हो गए। इस पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लिखा, ‘जब क्रिकेट के भगवान भी कोरोना से अछूते नहीं रह सकते, तो आप और हम क्या हैं? कृपया मास्क लगाएं, सावधानी रखें।’

देश में }46 दिन में 8 से 62 हजार केस पहुंचे, तब 68 दिन लगे थे
नई दिल्ली | कोरोना का एक पीक देख चुके भारत में दोबारा संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इसकी रफ्तार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले वर्ष कोरोना के नए मामलों को 8 हजार से 62 हजार होने में 68 दिन लगे थे, जबकि इस साल 46 दिन में ही इतने केस बढ़ गए। मार्च मध्य में मामले सबसे तेजी से बढ़े। 16 मार्च को देश में 24,492 केस थे। 24 मार्च को यह 47,262 हुए और 26 मार्च को 59,118 केस हो गए। उधर, शनिवार को 58,011 नए केस मिले। एक दिन पहले शुक्रवार को इस साल के सर्वाधिक 62,258 केस मिले थे। महाराष्ट्र में शनिवार को सर्वाधिक 35,736 केस मिले। गुजरात में भी सर्वाधिक 2,276 केस मिले हैं। यहां के आईआईटी-आईआईएम में 40 और 25 सक्रिय केस हैं।

पकवान खाएं, लेकिन… हाथ सेनेटाइज करके, रंग जरूर खेलें, लेकिन… दूर से गुलाल फेंक कर
खुशियों का त्योहार-होली, एक ऐसा रंग-बिरंगा पर्व जिसे हर धर्म के लोग पूरे जोश और मस्ती से मनाते हैं। बच्चे, महिलाएं और युवा रंगों से सराबोर रहते हैं। लेकिन इस बार कोरोना का खतरा पिछले साल से ज्यादा है। इस बार होली खेलें लेकिन कोरोना को ध्यान में रखकर।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों को होली की बधाई व शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि होली, सामाजिक समरसता का प्रतीक है। होली का यह पवित्र त्योहार लोगों की जिंदगी में खुशियों का नया रंग लेकर आएगा। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि बिना किसी भेदभाव के लोग एक-दूसरे के प्रति प्रेम व सद्भाव का व्यवहार रखते हैं; आपस में मिलकर खुशियां बांटते हैं। कहा-’कोरोना के संक्रमण को देखते हुए सभी लोग घर के अंदर ही होली का त्योहार मनाएं।

अगर आप हमारी आर्थिक मदद करना चाहते हैं तो आप हमें 8292560971 पर गुगल पे या पेटीएम कर सकते हैं…. डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *