अस्पताल में जीवन और मौत के बीच जंग लड़ रही थी लड़की, अचानक पहुंचा प्रेमी, धूमधाम से हुई शादी

एक चुटकी सिंदूर…ICU में भर्ती लड़की ने बॉयफ्रेंड से मांगा हक, फोन कर बोली-अब देर मत करो : पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर इलाके का एक निजी अस्पताल इन दिनों सुर्खियों में है. अस्पताल के मैंनेजमेंट ने काम ही कुछ ऐसा किया है. जिसकी चर्चा इन दिनों पूरे देश में है. सोशल मीडिया पर इस काम के लिए अस्पताल प्रशासन को खूब सराहा जा रहा है. आपको बता दें कि अस्पताल में कई दिनों से  सुचरिता पात्रा  नाम की महिला जॉन्डिस की बीमारी के कारण भर्ती है. दिन प्रतिदिन लड़की की हालत खराब होते जा रही थी. जिस वजह से उसके माता- पिता घबराए हुए थे.

अपने हालत को देख सुचरिता को लगा कि वह इस बीमारी को ज्यादा दिन तक झेल नहीं पाएगी, इससे घबराकर उसने अपने प्रेमी को फोन कर अपने हालात के बारे में बताया, और अपने प्रेमी अमित से शादी करने की इच्छा जताई. फिर क्या प्रेमी अमित अपना सारे काम छोड़कर अस्पताल में भर्ती अपनी प्रेमिका से मिला और उसके परिजन से मिलकर शादी की तैयारी शुरू कर दी. सुचरिता की हालत देख अस्पताल वालों ने उसे बाहर जाने की इजाजत नहीं दी.

ऐसे में सुचरिता ने अस्पताल में ही विवाह करने के लिए वहां के प्रशासन से मांग की. फिर क्या अस्पताल वालों ने सोच-विचार कर वहां शादी करने की इजाजत दे दी.  अस्पताल शादी के मंडप में तब्दील हो गया और अस्पताल के कर्मचारी अमित के बराती बन गए अस्पताल के आइसीयू रूम में भर्ती सुचरिता और उसके प्रेमी अमित की शादी पुरोहित द्वारा मंत्रोच्चार से करावाया गया. हालांकि इस दौरान अस्पताल में शोर शराबा नहीं हुआ. बेहद शांतिपूर्ण तरीके से विवाह की तमाम रस्मों को पूरा किया गया.

शादी के बाद पिता ने कहा कि वह बहुत खुश है कि बेटी की इच्छा पूरी हुई. बेटी के ससुराल वालो का स्वभाव भी विनम्र और सहयोग का है. बिना उनके सहयोग से ये शादी मुमकिन नहीं था. वहीं सुचरिता भी शादी के बाद बहुत खुश नजर आई.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *