पैदल जा रहे दोस्त को मजाक में जबरन गाड़ी में बैठा रहे थे बाकी दोस्त, किडनैपर समझ भीड़ ने पीट दिया

Desk: पटना में किडनैपिंग का मामला समझ तीन लड़कों के साथ मॉब लिंचिंग की घटना होते होते बच गई. पुलिस के समय पर पहुंचने की वजह से बड़ी घटना होते-होते बच गई. मामला राजधानी के पटेल नगर का है. RPS रेसिडेंशियल स्कूल की 9वीं कक्षा का छात्र निशांत अपने ग्रुप के 7-8 लड़कों के साथ जा रहा था. उससे एक क्लास सीनियर आदित्य अपने तीन साथियों के साथ हुंडई कार से आ रहा था. निशांत को देखकर आदित्य ने गाड़ी रोकी और मजाक में उसे गाड़ी में बैठा लिया.

दरअसल जिस वक्त आदित्य ने निशांत को तेजी में बिठाया, उसे देख स्थानीय लोगों को लगा कि मामला किडनैपिंग का है. इसके बाद शोर मच गया. तीनों लड़कों को लोगों की भीड़ ने पकड़ लिया. इस दरम्यान आदित्य के साथ गाड़ी में बैठे अभिषेक की भीड़ ने पिटाई भी कर दी. 18 साल का अभिषेक आरा का रहने वाला है और पटना में कॉम्पीटिशन की तैयारी करता है. गाड़ी में बैठा तीसरा लड़का राजन मोतिहारी का रहने वाला है और यहां होस्टल में रह कर प्राइवेट स्कूल में 10th की पढ़ाई करता है.

तो वहीं मामले की जानकारी मिलते ही थानेदार विमलेन्दु कुमार और उनकी टीम समय पर पहुंच गई. सबसे पहले भीड़ के बीच से अभिषेक और फिर बाकी दोनों लड़कों को बचाया. अगर पुलिस टीम मौके पर नहीं पहुंचती तो किडनैपिंग के आरोप में मॉब लिंचिंग की बड़ी घटना हो जाती. तीनों लड़कों को पुलिस फिलहाल थाना पर ले आई है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *