टीम इंडिया हारी तीसरा वन डे मैच, 2-1 से सीरीज किया अपने नाम

श्रीलंका टीम ने तीसरे अंतिम वनडे मैच में भारत को तीन विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। भारत ने पहला वनडे सात विकेट से दूसरा तीन विकेट से जीता था। टॉस हारने के बाद पहले गेंदबाजी करते हुए श्रीलंका ने टीम इंडिया ने बारिश के कारण 47 ओवरों तक सीमित किए गए मैच 43.1 ओवरों में 225 रनों पर समेट दिया, फिर 227 रनों के संशोधित लक्ष्य को 39 ओवरों में सात विकेट पर हासिल कर लिया। भारत की ओर से राहुल चाहर को तीन विकेट मिले। चेतन सकारिया ने दो विकेट शिकार किए। जबकि कृष्णप्पा गौतम हार्दिक पांड्या ने एक-एक सफलता हासिल की। लगातार दो मैच जीतने के बाद टीम इंडिया आखिरी मैच हार गई।


हार की वजह :
एक साथ छह बदलाव, पहले दूसरे मैच में टीम इंडिया ने एक ही टीम खेलाई कोई बदलाव नहीं किया, लेकिन तीसरे मैच में आधी टीम बदल डाली। टीम में कुल मिलाकर छह बदलाव किए गए इसमें से पांच खिलाड़ी तो ऐसे थे, जो वन डे डेब्‍यू कर रहे थे। एक साथ आधी टीम में बदलाव कहीं न कहीं खतरनाक साबित हुआ।

टीम ने छोड़े बहुत ज्‍यादा कैच, अगर ठीक से गेंदबाजी होती फील्‍डिंग अच्‍छी होती तो इससे पहले श्रीलंका को रोका जा सकता था। गेंदबाजों ने कई मौके भी बनाए।लेकिन टीम इंडिया ने करीब पांच कैच छोड़ दिए। श्रीलंका की आधी से ज्‍यादा टीम आउट हो गई थी, अगर ये कैच भी पकड़े जाते तो मैच रोचक हो जाता भारतीय टीम मैच जीत भी सकती थी।

बारिश ने बिगाड़ा खेल, मैच के दौरान जब टीम इंडिया बल्‍लेबाजी कर रही थी, इस दौरान बारिश भी आई। जब बारिश शुरू हुई तब टीम इंडिया ने तीन विकेट के नुकसान पर 147 रन बना लिए थे, उस वक्‍त लग रहा था कि टीम इंडिया कम से कम 260 रन तो बना ही लेगी, लेकिन बारिश के बाद लगातार विकेट गिरते रहे। हालत ये हो गई कि टीम पूरे ओवर भी नहीं खेल पाई 225 रन पर ही आउट हो गई। बारिश के बाद श्रीलंका के स्‍पिनर्स हावी हो गए।

पूरे ओवर न खेल पाना, वन डे क्रिकेट हो या फिर टी20 क्रिकेट, किसी भी फॉर्मेट में जो भी टीम पूरे ओवर नहीं खेल पाती, उसका मैच जीतना काफी मुश्‍किल हो जाता है। यही टीम इंडिया के साथ भी हुआ। बारिश के कारण वैसे भी ओवर घटाकर 47 कर दिए गए थे, लेकिन टीम इंडिया ये 47 ओवर भी नहीं खेल पाई पूरी टीम 43.1 ओवर में ही आउट हो गई।

टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी का फैसला, कप्‍तान शिखर धवन पहले दो मैचों में टॉस हार गए थे श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी चुनी। इस मैच में शिखर धवन ने टॉस जीता पहले बल्‍लेबाजी चुन ली। जब टीम इंडिया बाद में बल्‍लेबाजी कर मैच जीत रही थी, तो बदलाव की जरूरत नहीं थी। भारतीय टीम पहले गेंदबाजी करती तो शायद फायदेमंद साबित होता। टीम ने पहला मैच तो आसानी से जीता दूसरा मैच भी लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत लिया था। ऐसे में उसी रणनीति के हिसाब से चलना ज्‍यादा बेहतर रहता।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.