चीन के कारण भारत-नेपाल में फिर बढ़ा टेंशन, मोदी सरकार ने लिया बॉर्डर पर अतिरिक्त फ़ोर्स तैनात करने का फैसला

चीन की बढ़ती दखलदांजी के बाद गृह मंत्रालय का फैसला, इंडो-नेपाल बॉर्डर पर अतिरिक्त फोर्स होगी तैनात : इंडो-नेपाल सरहद पर निगहबानी और अधिक कड़ी होगी और चप्पे-चप्पे पर नजर रखने के लिए गृह मंत्रालय के द्वारा अतिरिक्त फोर्स तैनात करने का आदेश दिया गया है। सरहद के पास संदिग्ध लोगों की आवाजाही दिखने के बाद इस मामले की खुफिया रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपी गई थी।

इसके आलोक में अतिरिक्त फोर्स इंडो- नेपाल बॉर्डर पर भेजने की तैयारी गृह मंत्रालय के द्वारा कर ली गई है। लगातार नेपाल में चीन की दखलअंदाजी बढ़ने के बाद भी आए दिन नेपाल की सेना के द्वारा नए-नए हरकत भारत के खिलाफ किए जा रहे हैं। इसकी वजह से पिछले कई माह से इंडो- नेपाल बॉर्डर पर दोनों देशों के रिश्ते के बीच तल्खी है। इसका असर सीमाई इलाके पर बसे लोगों के जीवन यापन और रहन-सहन पर भी अब स्पष्ट रूप से पड़ना शुरू हो गया है। हालांकि सीमाई इलाके के लोगों को अब भी उम्मीद है कि नेपाल पूर्व की तरह ही भारत के साथ दोस्ताना संबंध रखकर बेटी रोटी के रिश्ते को निभाएगा, लेकिन नेपाल की लगातार की जा रही गलती और अन्य मामले को लेकर गृह मंत्रालय के द्वारा इस पर कड़ी निगाह रखी जा रही है।

कई पिलर गायब तो कई टूटे
अररिया, सुपौल और सीतामढ़ी के कई जगहों पर सैकड़ों की संख्या में इंडो – नेपाल पर सीमांकन के लिए लगाए गए पिलर गायब हैं । इनमें से कई पिलर जर्जर स्थिति में पहुंच गए हैं । इसके वजह से अक्सर इस पिलर के आसपास लोगों के द्वारा अवैध तरीके से दुकान और मकान बना लिया गया है । अक्सर ऐसे में सीमांकन का विवाद रह-रहकर गहराता रहता है । कई तरह के संदिग्ध गतिविधि देखी जाती है । दोनों तरफ की सरहद पर आवासीय घर रहने की वजह से कुछ विशेष कार्रवाई फोर्स नहीं कर पाती है और इसका फायदा असामाजिक तत्वों के द्वारा उठाया जाता है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.