भारत-बांग्लादेश के बीच फिर से चलेगी ट्रैन, बंधन और मैत्री एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे रेल मंत्री

भारत-बांग्लादेश के बीच फिर से बहाल होगी रेल सेवा, बंधन एक्सप्रेस और मैत्री एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे रेल मंत्री : भारत-बांग्लादेश के बीच कोरोना महामारी के कारण दो वर्षों से बंद रेल सेवा आखिरकार 29 मई से शुरू हो जाएगी. इसके अलावा भारत और बांग्लादेश के बीच एक नई ट्रेन मिताली एक्सप्रेस की भी शुरूआत की जाएगी. रेलवे मंत्रालय ने दोनों देशों के बीच आगामी 29 मई से रेल सेवा शुरू करने की जानकारी दी है. केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव वर्चुअल तौर पर मिताली एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर बांग्लादेश के लिए रवाना करेंगे.

29 मई से बंधन एक्सप्रेस और मैत्री एक्सप्रेस फिर से चलेंगी
29 मई को बंधन एक्सप्रेस और मैत्री एक्सप्रेस को चलाने के साथ ही एक बार फिर से दोनों देशों के बीच चलाने की शुरूआत की जाएगी. इसके बाद एक जून को दोनों देशों के रेलमंत्री मिताली एक्सप्रेस को एक जून को हरी झंडी दिखाकर रेलभवन से वर्चुअल तौर पर रवाना करेंगे.

मिताली एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे रेल मंत्री 
जानकारी के मुताबिक बांग्लादेश के रेल मंत्री महीने भारत का दौरा कर सकते हैं. इस दौरान दोनों देशों के रेल मंत्री संयुक्त तौर पर रेल भवन से वर्चुअली मिताली एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. उनके इस दौरे से पहले दो देशों के बीच मैत्री एक्सप्रेस और बंधन एक्सप्रेस का परिचालन को एक बार फिर शुरू किया जायेगा. कोरोना महामारी से पहले मैत्री एक्सप्रेस का परिचालन ढाका-कोलकाता मार्ग पर एक सप्ताह में पांच दिन होता था. हालंकि खुलना-कोलकाता मार्ग पर बंधन एक्सप्रेस का परिचालन ट्रेन के शुरू होने के बाद दो सप्ताह तक लगातार हुआ लेकिन कोरोना महामारी के कारण सभी ट्रेनों का परिचालन अभी बंद है.

जानें दोनों देशों के बीच ट्रेन को लेकर और क्या है डिटेल्स
गौरतलब है कि जब इन दो ट्रेनों का परिचालन शुरू किया गया, तब भारत और बांग्लादेश ने इसके लिए एक-एक रैक प्रदान किया था. भारत ने हाल ही में दोनों देशों के बीच परिचालन के लिए शुरू हुई मिताली एक्सप्रेस को रैक प्रदान किया है. इससे पहले बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 2021 में ढाका न्यू-जलपाईगुड़ी ट्रेन को संयुक्त रूप से परिचालन शुरू किया था. साल 2021 में दोनों देश की सरकारों ने अपने रेल संपर्क और द्विपक्षीय व्यापार को मजबूत करने के लिए रेल लिंक को बहाल करने का काम शुरू किया था.

कोविड -19 महामारी के कारण रोकी गई थी सेवाएं
हालांकि विभाजन के बाद भी इस मार्ग पर रेल यातायात जारी था. उस समय भारत और फिर पूर्वी पाकिस्तान के बीच इस मार्ग पर यात्री और मालगाड़ी चलती थी. हालांकि, कोविड -19 महामारी के कारण, इसके संचालन को कुछ समय के लिए टाल दिया गया था. जिसे अब फिर बहाल किया जा रहा है.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.