पटना जंक्‍शन पर रेलवे का बड़ा कारनामा, टिकट लेकर भी ट्रेन नहीं पकड़ पाए 200 से अधिक यात्री

Patna: रेलवे के अधिकारी कभी-कभी ऐसा काम कर देते हैं, जिससे विभाग की कार्यप्रणाली पर ही सवाल खड़े हो जाते हैं। पूर्व मध्‍य रेलवे (East Central Railway) के दानापुर मंडल (Danapur Division) के पटना जंक्शन (Patna Junction) पर सुबह-सुबह घने कोहरे के बीच ऐसा ही हुआ। रेलवे के अधिकारियों की लापरवाही से स्‍टेशन पर काफी हो हंगामा मच गया। रेलवे की लापरवाही के कारण 200 से अधिक यात्री आरक्षित टिकट लेकर भी ट्रेन में सवार नहीं हो सके। यह वाकया 08184 टाटानगर सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन (Danapur-Tatanagar Superfast Special) के यात्रियों के साथ हुआ।

ट्रेन के आने से ठीक पहले बदल दिया प्‍लेटफॉर्म

सुबह छह बजे के आसपास दानापुर से टाटानगर को जाने वाली 08184 टाटानगर सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन के एक नंबर पर आने की सूचना प्रसारित की जा रही थी। सारे यात्री एक नंबर प्लेटफाॅर्म पर ही ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। जब ट्रेन आने को हुई तो अचानक इसके प्लेटफाॅर्म संख्या पर तीन पर आने की सूचना प्रसारित होने लगी। अचानक अंतिम क्षण में प्लेटफाॅर्म के बदले जाने की सूचना मिलते ही यात्रियों में अफरातफरी मच गयी।

जंक्‍शन के तीनों फुट ओवरब्रिज पर लग गया जाम

अचानक ट्रेन के एक नंबर प्लेटफाॅर्म की बजाय तीन नंबर पर आने की सूचना प्रसारित होने पर यात्री एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ में धक्का-मुक्की करने लगे। पटना जंक्‍शन पर तीनों फुट ओवर ब्रिज पर जाम लग गया। इस ट्रेन से जाने वाले महिलाएं, बुजुर्ग व बच्चे काफी परेशान हो गए। सैकड़ों यात्री तो रेलवे लाइन ही क्रास कर दूसरी तरफ चले गए। इसी बीच ट्रेन पहुंच गई। ट्रेन पर चढ़ने को लेकर काफी धक्का-मुक्की होने लगा। ट्रेन अपने समय से खुल भी गई। इस ट्रेन से टिकट लेकर यात्रा करने वाले 200 से अधिक यात्री ट्रेन पर सवार होने से वंचित रह गए।

तोड़फोड़ करने पर उतारू हो गए थे रेलयात्री

जो यात्री ट्रेन पर सवार होने से वंचित रह गए वे अपने टिकट को दूसरे ट्रेन में यात्रा करने की अनुमति मांगने लगे। स्टेशन प्रबंधन की ओर से इसकी अनुमति नहीं दिए जाने पर यात्रियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। जो यात्री अपनी टिकट वापस कराने पहुंचे थे उन्हें भी नियमानुसार कोई भी राशि वापस नहीं की जा रही थी। इस बात से यात्री और भी आक्रोशित हो गए और हंगामा करने लगे। हंगामा कर रहे यात्री बार-बार स्टेशन प्रबंधन पर टिकट वापसी का दबाव बना रहे थे।

कई यात्रियों ने की है लिखित शिकायत

जब यात्रियों ने तोड़फोड़ करने की काेशिश शुरू कर दी तो आरपीएफ व जीआरपी को इसकी सूचना दी गई। तत्काल पुलिसकर्मी वहां पहुंच गए और हंगामा कर रहे यात्रियों को खदेड़ कर भगा दिया। कई यात्रियों ने इसकी लिखित शिकायत भी की है। जब इस संबंध में दानापुर मंडल प्रबंधन से जानकारी लेने की कोशिश की गई तब अनभिज्ञता जाहिर की गई। पूरा मामला जब रेलवे जीएम के स्‍तर तक पहुंचा तो रेलवे डैमेज कंट्रोल में जुट गया।

गलत सूचना प्रसारित किए जाने की जांच शुरू

ट्रेन के गलत सूचना प्रसारित किए जाने के कारण सैकड़ों यात्रियों के ट्रेन छूटने की घटना को पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने गंभीरता से लिया है। महाप्रबंधक ने तत्काल इस घटना की जांच का आदेश देते हुए तत्काल दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। दानापुर मंडल रेल प्रबंधक सुनील कुमार ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दोषी कर्मचारी को निलंबित कर मामले की जांच का आदेश दिया है। इस घटना की जांच के लिए स्टेशन निदेशक डाॅ. नीलेश कुमार को अधिकृत किया गया है।

आम तौर पर तीन नंबर प्‍लेटफॉर्म पर ही आती है यह ट्रेन

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जन संपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि दानापुर-टाटानगर सुपरफास्ट स्पेशल आमतौर पर पटना जंक्शन पर तीन नंबर प्लेटफाॅर्म पर ही आती है। शनिवार को तकनीकी कारणों से इसे प्लेटफार्म संख्या 1 पर लाने की घोषणा की गई थी। अंतिम समय में इसे प्लेटफार्म संख्या तीन पर लाने का निर्णय लिया गया था। परंतु उद्घोषक की गलती से इसकी घोषणा समय पर नहीं की जा सकी। इसके कारण ट्रेन के आने के बाद भी बहुत लोगों को इसकी सूचना नहीं मिल सकी। जब तक यात्री समझते तब तक ट्रेन खुल चुकी थी।

दानापुर टाटा को टेकाबिगहा में रोककर चढ़ाया गया यात्रियों को

सीपीआरओ के मुताबिक रेलवे की ओर से ऐसे यात्रियों के लिए राजगीर इंटरसिटी से टेकाबिगहा तक यात्रा करने की अनुमति दी गई। इधर, दानापुर टाटा नगर स्पेशल ट्रेन को टेकाबिगहा में रोककर राजगीर इंटरसिटी से पहुंचे इस ट्रेन के यात्रियों को उनके आरक्षित बर्थ पर बैठाया गया। इसके बाद ट्रेन अपने गंतव्य स्टेशन के लिए रवाना हुई। रेलवे के मुताबिक जो यात्री यात्रा नहीं करना चाह रहे थे, उनके टिकट वापसी की भी व्यवस्था की गई थी। इस घटना की जांच की जा रही है।

कुछ कर्मचारियों की लापरवाही से दो घंटे लेट हो गई ट्रेन

रेलवे के कुछ कर्मचारियों की लापरवाही के कारण दानापुर-टाटानगर सुपरफास्‍ट स्‍पेशल दानापुर स्‍टेशन से समय से खुलने के बावजूद मोकामा जाते-जाते करीब दो घंटे लेट हो गई। दरअसल पटना जंक्‍शन पर ट्रेन के आगमन के लिए प्‍लेटफॉर्म की उद्घोषणा में गड़बड़ी की भरपाई के लिए रेलवे की ओर से खूब कोशिश की गई। मामला वरीय अधिकारियों के संज्ञान में जाने के बाद तो स्‍थानीय अधिकारियों के हाथ-पांव ही फूल गए। दरअसल ट्रेन को पटना जंक्‍शन पर भी निर्धारित समय से अधिक देर तक रोका गया। इसके बाद फतुहा और खुसरुपुर में भी ट्रेन को अधिक देर तक रोका गया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *