देश की पहली प्राइवेट ट्रेन की हुई शुरुआत, 1000 से अधिक यात्रियों ने कटवाया रेल टिकट

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन की हुई शुरुआत, कोयंबटूर से हुई रवाना – जानिए सब कुछ : देश की पहली प्राइवेट ट्रेन चलाने की शुरुआत मंगलवार 15 जून को हो गई है. भारत गर्व स्कीम (Bharat Gaurav Scheme ) के तहत शुरू की गई इस ट्रेन को कोयंबटूर (Coimbatore) से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया. यह ट्रेन गुरुवार को शिरडी (Shirdi) के साईं नगर पहुंची. दक्षिण रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) बी गुगनेसन के मुताबिक 20 कोच की इस स्पेशल ट्रेन में 1500 पैसेंजर सफर कर सकते हैं. इस ट्रेन की सबसे खास बात है कि इसका किराया भी भारतीय रेलवे की ट्रेन टिकटों की कीमत के बराबर ही है. 

इस प्राइवेट ट्रेन के पहले सफर में बीते मंगलवार को 1100 पैसेंजर्स कोयंबटूर से शाम 6 बजे शिरडी के लिए रवाना हुए. ट्रेन गुरुवार को सुबह 7.25 मिनट पर शिरडी पहुंची. यहां एक दिन हॉल्ट के बाद ये ट्रेन शनिवार 18 जून को कोयंबटूर नॉर्थ के लिए रवाना होगी. दक्षिण रेलवे (Southern Railway) से मिली जानकारी के मुताबिक शिरडी पहुंचने से पहले ट्रेन के स्टॉपेज में  तिरुपुर, इरोड, सेलम जोलारपेट, बेंगलुरु येलहंका, धर्मावरा, मंत्रालयम रोड और वाडी स्टेशन शामिल हैं. इतना ही नहीं शिरडी साईं बाबा मंदिर में विशेष वीआईपी दर्शन करने की व्यवस्था भी इस सफर में शामिल की गई है.

इस सफर के दौरान यह ट्रेन मंत्रालयम रोड स्टेशन पर यात्रियों के मंत्रालय मंदिर के दर्शनों के लिए पांच घंटे तक रुकेगी. इसके साथ ही रेलवे  मंत्रालय का कहना है कि इस सफर के दौरान यह ट्रेन कई ऐतिहासिक महत्व के स्थलों से होकर गुजरेगी, जिससे यात्रियों को भारत की सांस्कृतिक विरासत से रूबरू होने का मौका भी मिलेगा. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अपने ट्विटर अकाउंट में इस पहली प्राईवेट ट्रेन का वीडियो भी साझा किया है. रेल मंत्री के मुताबिक भारत गर्व ट्रेन केंद्र सरकार की डोमेस्टिक टूरिज्म के प्रचार के लिए ‘देखो अपना देश’ के तहत की गई पहल है. रेल मंत्रालय के मुताबिक इस प्राइवेट ट्रेन के शुरू होने से दक्षिण रेलवे भारत गौरव योजना के तहत पहली रजिस्टर सर्विस प्रोवाइड करने वाला भारतीय रेलवे का पहला जोन बन गया है. 

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत गौरव योजना (Bharat Gaurav Scheme) के तहत चलाई गई इस ट्रेन को  रेलवे ने एक सर्विस प्रोवाइडर को 2 साल के लिए लीज पर दिया है. सर्विस प्रोवाइडर ने कोच सीटों को नए तरीके से बनाया है. इस ट्रेन से हर महीने कम से कम तीन यात्राएं होंगी. इस प्राईवेट ट्रेन में 20 कोच हैं. जिनमें 12 एसी, पांच स्लीपर, एक पैंट्री कार और दो स्लीपर (SLR ) कोच हैं. इसके संचालन दल में ट्रेन कैप्टन, प्राईवेट सिक्योरिटी पर्सनल, एक डॉक्टर, 24 घंटे सफाई के लिए क्लीनिंग स्टाफ, रेलवे पुलिस फोर्स होगी. ट्रेन में शाकाहारी खाने का इंतजाम भी किया गया है. रेलवे की विज्ञप्ति के अनुसार, इस ट्रेन का किराया भारतीय रेलवे की नियमित ट्रेन टिकटों की कीमतों के बराबर ही है. 

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.