जल्द ही भारत खरीद सकता है लड़ाकू विमान मिग -29, सप्लाई करने के लिए रूस ने सौंपा प्रस्ताव

भारत जल्द ही रूस से ताकतवर मिग-29 लड़ाकू विमान खरीद सकता है। मामले की जानकारी देते हुए रूस के फेडरल सर्विस फॉर मिलिट्री टेक्निकल कोआपरेशन के प्रवक्‍ता ने कहा कि रूस ने 21 मिग-29 विमानों की सप्लाई करने के संबंध में भारत को एक कमर्शियल प्रस्ताव भी सौंपा है। प्रवक्ता वलेरिया रेशेत्निकोवा ने कहा, ‘भारतीय वायु सेना को 21 विमानों की 2021 में सप्लाई के लिए टेंडर आवेदन मिल चुका है।

उन्होंने कहा कि रूस की ओर से भारत को प्रस्ताव भेजा जा चुका है, जिसपर अब ग्राहक यानी भारत को विचार करना है।
रूस की सरकारी समाचार एजेंसी स्पूतनिक ने बताया कि रेशेत्निकोवा ने ये बातें MAKS-2021 अंतरराष्ट्रीय एयर शो के इतर कही हैं। पिछले साल भारत की रक्षा खरीद परिषद ने रूस के 21 मिग-29 लड़ाकू विमानों के अधिग्रहण को मंजूरी दी थी। रूसी संघीय सेवा ने फरवरी में कहा था कि भारत सरकार ने भी विमान खरीदने के पक्ष में फैसला किया है।

नए विमानों की जरूरतें पूरी करता है मिग-29

वहीं अंतरराष्ट्रीय एयर शो की बात करें तो इसका आयोजन 20-25 जुलाई तक रूस मास्को में हो रहा है। बीते साल जून महीने में समाचार एजेंसी एएनआई से सूत्रों ने कहा था कि भारतीय वायु सेना ने रूस से 21 मिग -29 सहित नए लड़ाकू विमान के लिए सरकार को एक प्रस्ताव भेजा है। भारतीय वायु सेना जिन 21 मिग 29 लड़ाई विमानों को प्राप्त करने की योजना बना रही है, वह रूस में निर्मित हैं और नए लड़ाकू विमानों की आवश्यकता को पूरा करते हैं।

अपग्रेड हो रहे हैं पुराने विमान

भारतीय वायु सेना के पास मिग-29 के तीन स्कावरर्डम हैं, जिनमें से एक- दो ईंजन वाला सिंगल सीट विमान है। इन्हें काफी कारगर माना जाता है और फिलहाल ये अपग्रेड हो रहे हैं। रूस में आयोजित एयर शो में एक नए लड़ाकू विमान के शुरुआती मॉडल को भी पेश किया गया है। जो कई अत्याधुनिक विशेषताओं से लेस है। विमान निर्माता सुखोई ने नए विमान को हल्के विमान के तौर पर डिजाइन किया है,जो अपनी पहली उड़ान 2023 में भरेगा और 2026 से इसकी आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *