IPS पूजा यादव के सामने फेल हैं ऐश्वर्या-कटरीना कैफ, कनाडा-जर्मनी में नौकरी छोड़ बनी पुलिस अफसर

फिल्मी हीराईनों को मात देती हैं हरियाणा की IPS पूजा यादव, जानें कैसे रिसेप्शनिस्ट से बनीं पुलिस ऑफिसर : नई दिल्ली। अक्सर आपने फिल्मों में देखा होगा कि हीरोईन शानदार तरीके से आईपीएस अफसर का किरदार निभाते हैं। इन बला की खूबसूरत अभिनेत्रियों को देखकर ऐसा लगता है कि यह केवल सपनों में या फिर फिल्मी पर्दे पर ही होता होगा।

मगर जिस तरह से आज के युवाओं में आईएएस और आईपीएस अफसर बनने का क्रेज बढ़ता जा रहा है, ठीक उसी तरह से सिविल सेवा में भी अब फिल्मी हीरोईन की तरह से आईएएस और आईपीएस अफसर भर्ती होने लगे हैं। इन नौजवान और स्मार्ट अफसरों को देखकर यकीन ही नहीं होता कि ये लोग देश सेवा के जज्बे से प्रभावित होकर सिविल सर्विस में आए हैं। फिल्मी कहानियों की तर्ज पर ही अब पुलिस सेवा में भी ऐसे ही अफसर दिखाई देने लगी हैं। आज हम आपको हरियाणा की रहने वाली ऐसी ही एक आईपीएस अफसर की कहानी बताने जा रहे हैं, जोकि अपनी खूबसूरती से बॉलीवुड हीरोईनों को भी मात देती हैं।

इस आईपीएस अफसर की पर्सनेलिटी के साथ साथ आज हम आपको उनके द्वारा की गई अथक मेहनत की कहानी से भी रूबरू करवाएंगे। आईपीएस अफसर बनने से पहले हरियाणा की रहने वाली पूजा यादव ने खुद का कैरियर बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है। 20 सितंबर 1988 को हरियाणा में जन्मीं पूजा यादव 2018 बैच की आईपीएस अफसर हैं और इन दिनों गुजरात कैडर में अपनी सेवाएं दे रही हैं। मगर बता दें कि पुलिस सेवा में आने से पहले पूजा ने एम.टेक की डिग्री हासिल की। इसके बाद वह अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए नौकरी करने के लिए कनाड़ा और जर्मनी चली गईं। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार पूजा यादव के परिवार की आर्थिक हालत बहुत बेहतर नहीं थी। इसलिए उन्होंने नौकरी कर अपने परिवार का सहयोग करने का निर्णय लिया।

अपने परिवार का सहयोग करने के लिए पूजा ने बच्चों को टयूशन भी पढ़ाया और रिसेप्शनिस्ट की नौकरी भी की। मगर उन्होंने हार मानने की बजाए आगे बढऩे का लक्ष्य ही तय किया था। कनाडा और जर्मनी में नौकरी करने के दौरान ही पूजा यादव को अहसास हुआ कि उसे अपने देश की सेवा करनी चाहिए। विदेशों की उन्नति में अपना योगदान देने की बजाए अपने देश की सेवा का जज्बा आते ही पूजा ने विदेश में नौकरी छोडक़र अपने देश की ओर रूख कर लिया। यहां आकर उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करनी शुरू कर दी। हालांकि परिवार की स्थिति को देखते हुए यह इतना आसान नहीं था। इसके बावजूद उन्होंने बच्चों को टयूशन पढ़ाया और एक कंपनी में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी भी की।

पहली बार यूपीएससी की परीक्षा में वह सफल नहीं हो पाई। पंरतु दूसरी बार में जब उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा दी तो वह सफल रही। वर्ष 2018 में पास होने पर उन्हें गुजरात कॉडर में पुलिस सर्विस सेवा का आप्शन मिला, जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया। पूजा की लाईफ स्टाईल की बात करें तो वह किसी फिल्मी हीरोईन से कम नहीं लगती। सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाली पूजा का मानना है कि यूपीएससी की प्रक्रिया और तैयारी थकाऊ और लंबी तो हो सकती है, लेकिन उसे पास करने पर जो सम्मान मिलता है, वह किसी दूसरी नौकरी में नहीं है। कैंडिडेटस कई बार निराशा में फंस जाते हैं, लेकिन जो लोग यूपीएससी करना चाहते हैं, वह इसकी कतई चिंता ना करें और लगातार खुद को मोटिवेट रखते हुए अपनी तैयारी में जुटे रहें।

आईपीएस अफसर बनने के बाद पूजा यादव ने इसी वर्ष 18 फरवरी को आईएएस अफसर विकल्प भारद्वाज से शादी कर ली है। विकल्प भारद्वाज से पूजा की मुलाकात मसूरी स्थित आईएएस प्रशिक्षण सेंटर में हुई थी। पूजा के पति विकल्प 2016 बैच के केरल कैडर के आईएएस अफसर हैं। फिलहाल पूजा यादव आईपीएस ऑफिसर के रूप में शानदार कार्य कर रही हैं और अपने परिवार में भी उन्हें बराबर का संतुलन बनाया हुआ है। पूजा सोशल मीडिया पर भी लगातार सक्रिय रहती हैं। इसलिए इंस्टाग्राम पर उनके 2.5 लाख फॉलोअर्स हैं। उनका यह भी कहना है कि लोगों से कनैक्ट रहने के लिए सोशल मीडिया सबसे बेहतर प्लेटफार्म हैं और इस जरिए सभी लोग अपनी बात समाज के सामने रख सकते हैं

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *