6 साल की उम्र से ​क्रिकेट खेलने लगे थे ईशान, श्रीलंका के खिलाफ 50 रन बनाते ही रो पड़े मम्मी-पापा

डेब्यू मैच में ईशान किशन के 59 रन बनाने पर उनके पिता प्रणव कुमार पांडे ने कहा कि वह बिहार और पूरे देश का बेटा है। ईशान ने आज हम सबका सिर फिर से ऊंचा कर दिया है। ईशान को अभी बहुत कुछ करना है। भारत ने वनडे सीरीज के पहले मैच में श्रीलंका को 7 विकेट से हराया। 263 के लक्ष्य को कप्तान धवन के 86* और डेब्यू वनडे खेल रहे ईशान किशन के 59 रनों की मदद से भारत ने 3 विकेट खोकर हासिल कर लिया। बर्थडे ब्वाय ईशान ने मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ टी20 के डेब्यू मैच में भी अर्धशतक लगाया था। वे वनडे और टी20 के डेब्यू में अर्धशतक लगाने वाले पहले भारतीय हैं। ईशान वनडे की पहली ही गेंद पर छक्का लगाने वाले भी पहले भारतीय हैं।

FILE PHOTO

अपने जन्मदिन पर भारत के लिए वनडे क्रिकेट में पदार्पण कर शानदार 59 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिलाने वाले पटना के इशान किशन के पिता प्रणव पांडेय और उनका परिवार बेहद खुश है। बेटे को क्रिकेटर बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले प्रणव ने जागरण को बताया कि जिस तरह इंग्लैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट में इशान ने शानदार आगाज किया था, उसी तरह वह श्रीलंका में जरूर सफल होगा। इस बार उसे विकेटकीपिंग का भी मौका मिला, जो उसके करियर को विस्तार देने के लिए बेहद जरूरी है। कोरोना काल में इशान ने विकेटकीपिंग के साथ अपने खेल पर काफी मेहनत की है। श्रीलंका जाने से पूर्व उसने अपने आदर्श महेंद्र सिंह धौनी से भी जरूरी टिप्स लिए हैं। अब उसका फल उसे मिल रहा है। श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में इशान को विकेटकीपिंग का मौका मिला, जो उसके करियर के लिए अहम पड़ाव साबित होगा।

पहले वनडे में इशान की विकेटकीपिंग से खुश प्रणव ने बताया कि असंतुलित मैदान होने के कारण कुछ मौके पर उससे गेंद छूटी, लेकिन गलतियों को सुधारकर उसे आगे बढ़ना होगा। यूएई में इस साल के अंत में होने वाले टी-20 विश्व कप में जगह बनाने के लिए उसे अपनी बल्लेबाजी के साथ विकेटकीपिंग के स्तर को ऊंचा करना होगा।

रात 12 बजे केक काटकर मनाया जन्मदिन
पिता प्रणव पांडेय, मां सुचित्रा सिंह, भाई राज किशन व परिवार के अन्य सदस्यों ने शनिवार को रात 12 बजे पटना के खाजपुरा स्थित अपने घर पर केक काटकर इशान का जन्मदिन मनाया। उन्होंने वीडियो काल कर इशान को शुभकामनाएं भी दीं। इशान को क्रिकेटर बनाने के लिए अपने क्रिकेट करियर का असमय त्याग करने वाले भाई राजकिशन ने बताया कि कुछ दिन पूर्व इशान से बात हुई थी। वह अभी टी-20 विश्व कप के बारे में नहीं सोच रहा है। उसका पहला लक्ष्य श्रीलंका में बेहतर प्रदर्शन करना है। इसके बाद यूएई में आइपीएल। सब कुछ सही रहा तो वह यूएई से ही विश्व कप विजेता बनकर लौटेगा।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *