संतानहीन माता-पिता के लिए खुशखबरी, IGIMS में 30 हजार रुपए में मिलेगी IVF की सुविधा

PATNA : रिप्रोडक्टिव मेडिसिन विभाग की हेड डॉ. कल्पना सिंह का कहना है कि आईवीएफ तकनीक के लिए दंपती को सिर्फ 30 से 35 हजार रुपए खर्च करने होंगे। तैयारी पूरी कर ली गई है। उम्मीद है कि डेढ़ से दो महीने में इस तकनीक का लाभ पी’ड़ित दंपतियाें को मिलने लगेगा। डॉ. कल्पना की मानें तो यहां एक छत के नीचे इनफर्टिलिटी से संबंधित तमाम चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

बां’झपन से पी’ड़ित दंपती को आईवीएफ (टेस्ट ट्यूब) तकनीक की सुविधा जल्द ही आईजीआईएमएस में मिलने लगेगी। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। सभी उपकरण इंस्टाॅल हाे गए हैं। पर कोरोना संक्रमण की वजह से अभी शुरुआत नहीं की जा रही है। इसके लिए अभी करीब दो माह का इंतजार करना पड़ेगा। राज्य में पहली बार किसी सरकारी अस्पताल में आईवीएफ की सुविधा बहाल हाे रही है। प्राइवेट में इसके लिए काफी पैसे खर्च करने पड़ते हैं। लेकिन आईजीआईएमएस में इसके लिए 30-35 हजार रुपए खर्च करने पड़ेंगे। दवा का खर्च अलग हाेगा।

आई वी एफ क्या है? : आई वी एफ एक (IVF Meaning in Hindi) प्रजनन उपचार यानि फर्टिलिटी ट्रीटमेंट है जो कि उन लोगों के लिए बना हैं जो बच्चा पैदा करने में असमर्थ होते है। इस प्रक्रिया से बाँझ दम्पत्तियों का उपचार किया जाता हैं। आई वी एफ के द्वारा काफी निःसंतान दम्पत्तियों को अपनी संतान होने का सुख मिला है।।

गर्भधारण प्रक्रिया में क्या होता है – इस प्रक्रिया में स्त्री के अंडे (एग) और पुरुष के शुक्राणु (स्पर्म) की आवश्यकता होती है। यह दोनों मिलकर शिशु उत्पादन की शुरूआती स्थिति का निर्माण करते हैं जिसे भ्रूण (एम्ब्र्यो) कहा जाता है। यदि स्त्री के अंडे, पुरुष के शुक्राणु या दोनों में ही कोई परेशानी होती है तो यह बाँझपन माना जाता है। साथ ही गर्भधारण नहीं हो पाता है। जिसका तात्पर्य है कि महिला साथी प्राकृतिक रूप से गर्भवती नहीं हो सकती। यह वो स्थिति है जब बाँझपन के इलाज की आवश्यकता होती है और आई वी एफ तब सामने आता है।

जब कोई विवाहित दंपत्ति पिछले 6 महीनों से लगातार असुरक्षित यौन क्रिया करने के बाद भी गर्भधारण करने में असफल होता है तो स्त्री के अंडे या पुरुष के शुक्राणु में कोई समस्या हो सकती है। यदि दोनों में ही कुछ दिक्कतें हो तो इस समस्या को युगल इनफर्टिलिटी (Couple Infertility) कहा जाता है। कई ऐसी स्थिति भी सामाने आई है, जिसमें युगल काफ़ी साल की कोशिशों के बाद प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करने में सफल रहें लेकिन यह एक दुलर्भ स्थिति है।

आई वी एफ क्या है (What is IVF in Hindi) – इसमें स्त्री के अंडे और पुरुष शुक्राणु को शरीर के बाहर फर्टीलाइज़ किया जाता है। ‘इन-विट्रो’ दर्शाता है ‘इन-ग्लास’ जिसका अर्थ है ग्लास के अंदर। फर्टीलाइज़ेशन प्रक्रिया लैब के अंदर एक ग्लास पेट्री डिश में की जाती है। इस भ्रूण को महिला के गर्भाशय में प्रत्यारोपित किया जाता है ताकि वह बड़ा हो और शिशु का अकार ले।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *