जानकी नवमी आज, आज ही के दिन राजा जनक के घर मां सीता का हुआ था जन्म, महोत्सव शुरू

PATNA : आज जानकी नवमी है। अथार्त आज ही के दिन राजा जनक के घर मां जानकी का जन्म हुआ था। प्रोफेसर अमेलेंदु शेखर पाठक कहते हैं की मां सीता के कारण जहां मिथिला और बिहार और बिहार को देवभूमि कहा जाता है। उनकी माने तो आज घर घर में रामनवमी की तरह जानकी नवमी मनाई जानी चाहिए। दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सीतामढ़ी, पटना सहित देश के विभिन्न राज्यों में जानकी नवमी महोत्सव आज से शुरू हो गया है। कहीं पर एक दिवसीय तो कहीं पर सात दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

jaanki navmi, maa sita

दरभंगा मैथिली लोक संस्कृति मंच के महासचिव प्रोफेसर उदय शंकर मिश्र ने कहा कि साप्ताहिक जानकी जन्मोत्सव वंगालीटोला स्थिति कार्यालय में मनाया जाएगा। ज्ञात हो कि इस बार 13 मई को जानकी जी का जन्मदिवस है। जिसे हम लोग मैथिली दिवस के रुप में मनाते हैं । इस अवसर पर पारंपरिक रुप से पूजन किया जाएगा लौकीक से रुप से मिथिला की बेटी सिया का जन्म उत्सव एवं छठे दिन छठिहार मनाया जाएगा।

इसी दिन श्री राम कथा के मर्मज्ञ डॉ बिघ्नेस चंद्र झा जी द्वारा। रामकथा में जानकी तत्व पर आध्यात्मिक विवेचन होगा जिसमें डॉक्टर जयशंकर झा समेत कई अन्य वक्ता होंगें धनुसधारनी सीता की मूर्ति की स्थापना की जाएगी। जो 7 दिनों तक अलौकिक एवं पारंपरिक रुप से पूजन की जाएगी। घरी घंटा का स्वर गूंजायमान होगा। त्रिकाल भजन एवं आरती की जाएगी। प्रसाद वितरण की व्यवस्था होगी। 13 मई से पूजन शुरु होकर 18 मई को छठीहार एवं जानकी तत्व विवेचन एवं 19 मई को मां जानकी की बिदाई की जाएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *