अब 1 अक्टूबर से दिल्ली में कभी नहीं खुलेंगी शराब की सभी प्राइवेट दुकानें

राजधानी दिल्ली में नई आबकारी नीति को लागू कर चुके आबकारी विभाग ने वर्तमान में चल रहीं शराब की सभी प्राइवेट दुकानों को सदा के लिए एक अक्टूबर से बंद करने का फैसला ले लिया है। यानी एक अक्टूबर से शराब की सभी प्राइवेट दुकानें नहीं खुलेंगी।

इन दुकानों की संख्या अब 260 है। आबकारी विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि नई आबकारी नीति के तहत अब शराब की दुकानें खुलनी हैं। इसमें 32 जोन में से 20 जोन की नीलामी हो चुकी है। 12 जोन के लिए भी अगले कुछ दिन में टेंडर प्रक्रिया पूरी होनी है। ऐसे में पुरानी दुकानों को धीरे धीरे बंद किया जाना है। इसलिए अभी प्राइवेट दुकानों को बंद किया जाएगा, इसके बाद 16 नवंबर से वर्तमान में चल रहीं सभी सरकारी दुकानें बंद कर दी जाएंगी।

उधर, शराब दुकानदार एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेश गोयल (Naresh Goyal, President of Liquor Shopkeepers Association) ने कहा है कि हम दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार से आग्रह करते हैं कि वह भेदभाव पूर्ण नीति अपनाते हुए हमारे धंधे को ना उजाड़ें, अन्यथा इसके खिलाफ न्यायालय का दरवाजा खटखटाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। माना जा रहा है कि दिल्ली में एक अक्टूबर से शराब की दुकानों के बंद होने को लेकर शराब दुकानदार एसोसिएशन दिल्ली हाई कोर्ट का रुख कर सकता है, क्योंकि शराब की दुकानों को बंद होने में एक पखवाड़ा भर बचा है।

बताया जा रहा है कि नई नीति के तहत दिल्ली सरकार ने कुल 32 में से 20 जोन में शराब की खुदरा बिक्री के लिए निजी कंपनियों का चयन कर लिया है। दिल्ली आबकारी विभाग (Delhi Excise Department) ने हालिया जारी एक आदेश में कहा है कि दिल्ली सरकार ने नई आबकारी नीति 2021-22 को मंजूरी दे दी है। इसके तहत खुदरा लाइसेंस 17 नवंबर से जारी होंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *