जदयू की बैठक में शामिल नहीं होंगे प्रशांत किशोर, सीएम नीतीश ने नहीं भेजा निमंत्रण पत्र

अभी-अभी राजधानी पटना से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कल राजधानी पटना में आयोजित होने वाली बैठक में प्रशांत किशोर शामिल नहीं होंगे। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से जदयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को निमंत्रण पत्र नहीं भेजे जाने की बात सामने आ रही है ।

प्रशांत किशोर का ट्वीट, कहा- दिल्ली में 8 फरवरी को EVM प्यार से दबेगा : जेडीयू नेता प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने सोमवार को ट्वीट किया है. इस ट्वीट में उन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) की तरफ इशारा करते हुए ट्वीट की है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि 8 फरवरी को दिल्ली में ईवीएम (EVM) का बटन तो प्यार से ही दबेगा. उन्होंने कहा कि जोर का झटका धीरे से लगना चाहिए ताकि आपसी भाईचारा और सौहार्द खतरे में ना पड़े. आपको बता दें कि दिल्ली में जेडीयू बीजेपी के साथ गठबंधन सहयोगी के तौर पर चुनाव लड़ रही है. बीजेपी ने जेडीयू को इस चुनाव में 2 सीटें दी है. दिल्ली के पूर्वांचली आबादी वाले बुराड़ी और संगम विहार विधानसभा सीट गठबंधन सहयोगी के तौर पर नीतीश की पार्टी जेडीयू को मिला है।

अमित शाह ने दिया था यह बयानबता दें कि बीजेपी के नेता और गृह मंत्री अमित शाह ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि आप ईवीएम इतने गुस्से के साथ दबाना कि बटन यहां बाबरपुर में दबे, करंट शाहीन बाग के अंदर लगे. आपको बता दें कि दिल्ली में 2020 का विधानसभा चुनाव 8 फरवरी को होने जा रहा है. इस चुनाव का परिणाम 11 फरवरी को आम लोगों के सामने होगा।
दिल्ली विधानसभा के इस चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी और आप के बीच माना जा रहा है. लेकिन कांग्रेस भी अपने दिग्गज नेताओं को चुनावी मैदान में उतार चुकी है. इस चुनाव में आम आदमी पार्टी काम के भरोसे चुनाव जीतने की बात कर रहे हैं. वहीं बीजेपी को मोदी मैजिक पर पूरा भरोसा है। दिल्ली विधानसभा के 2015 के चुनाव में आप को अपार जनसमर्थन मिला था. इस चुनाव में आप के खाते में 67 और बीजेपी को 3 सीटों पर जीत मिली थी. 22 फरवरी को दिल्ली विधानसभा के वर्तमान सत्र खत्म होगा. इससे पहले यहां नये सरकार का भी गठन भी हो जायेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *