जब तेजस्वी ने की गरीबों की बात, तो JDU ने याद दिलाई उनके चार्टर्ड प्लेन पर जन्मदिन मनाने वाली बात

Patna: कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए देश में लॉकडाउन की अवधि तीन मई तक बढ़ा दी गई है. जाहिर है इससे उस तबके को ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा जिनकी रोज कमाने और खाने की दिनचर्या है. ऐसे में कई हलकों से ऐसे लोगों को राहत देने की मांग उठाई जा रही है. कई राज्य सरकारों ने इसके इंतजाम भी किए हैं, पर गरीब तबके के लोगों के सामने पेट भरने की चिंता है. ऐसे में बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सवाल उठाया है कि गरीब तबके की मदद के लिए समृद्ध तबका आगे क्यों नहीं आ रहा है.

अपनी इस बात को रखते हुए तेजस्वी यादव ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा, यह बीमारी लेकर आए हवाई जहाज़ वाले और भुगते पैदल चलने वाले, कोरोना लेकर आए पासपोर्ट वाले और क़ीमत अदा करे BPL राशनकार्ड वाले. अमीरों की शानो-शौक़त और बीमारी का हर्ज़ाना बेचारे करोड़ों ग़रीब लोग भुगत रहे हैं. ग़रीबों की मदद के लिए क्यों नहीं वो अब आगे आ रहे है?

तेजस्वी ने इसके बाद एक और ट्वीट किया और लिखा, सरकारें सोचती हैं कि वो ग़रीबों के खाते में महज़ 500₹ डालकर और उन्हें मुट्ठीभर दाल-चावल का लालच देकर बहला लेंगी. मैं सरकारों से प्रार्थना कर रहा हूं कि कोरोना से कोई मरे ना मरे लेकिन करोड़ों ग़रीब लोगों को घर भेज, महीनों के राशन का इंतज़ाम करे अन्यथा वो भूख से ज़रूर मर जाएंगे.

तेजस्वी के इस बयान के बाद जेडीयू ने पलटवार किया है. पार्टी के प्रवक्ता निखिल मंडल ने तेजस्वी के ट्वीट के जवाब में लिखा, अब भाई आपसे ज्यादा अमीर कौन होगा जो अपना जन्मदिन चार्टड प्लेन पर मनाता है..!! शर्म करो और गरीब-अमीर की राजनीत करना बंद करो.! सरकार,अमीर,गरीब सभी लोग मदद कर रहे है सिवाय आपके जो बिहार प्रदेश के बाहर रहकर,रात के दो बजे,सामने लिखे पंक्ति को पढ़ कर घटिया राजनीत करना चाह रहा है..!!

बहरहाल, इस कठिन दौर में भी राजनीति जारी है और एक दूसरे के विरोधी दल वार-पलटवार करने का एक भी गंवाना नहीं चाहते.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *