DM साहेब एक्शन में, एंबुलेंस नहीं देने वाले हेल्थ मैनेजर संस्पेंड, दो डाक्टरों पर गिरी गाज

देर से ही सही लेकिन बिहार सरकार और जहानाबाद के डीएम एक्शन में नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि डीएम साहेब ने मामले की जांच का आदेश देते हुए सबंधित दोषियों पर कार्रवाई का आदेश दिया है।

जहानाबाद से बड़ी खबर सामने आ रही है। एंबुलेंस नहीं मिलने पर हुई बच्चे की मौ/त के बाद डीएम नवीन कुमार ने बड़ी कार्रवाई की है। डीएम ने एक्शन लेते हुए हॉस्पिटल के हेल्थ मैनेजर को सस्पेंड कर दिया है। डीएम कुमार ने इस पूरे मामले में जहां हेल्थ मैनेजर को संस्पेंड किया है वहीं दो दो डॉक्टर एवं 4 नर्सों पर कड़ी कार्रवाई के लिए विभाग को अनुशंसा की है। वहीं एंबुलेंस के सुपरवाइजर पर भी डीएम की गाज गिरी है।

CM नीतीश शर्म करो, आपके सुशासन में 1 बच्चे को एंबुलेंस ना मिलने के कारण वह म’र गया, मां रोती रही : बिहार में बहार है नीतीशे कुमार है…। इस घटना को सुनने के बाद अपका सिर शर्म से झूक जाएगा और आप सोचने पर विवश हो जाएंगे कि आखिर बिहार में अब भी कुछ नहीं बदला है। तभी तो मां रो/ती रही है कोई कुछ ना कर पाया। हाथों में 3 साल के बच्चे की ला/श लेकर ब/दहवास भागती ये माँ जहानाबाद, बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था की ब/दहाली की गवाह है। जहाँ एम्बुलेंस न मिलने की वजह से मासूम की जा/न चली गई। म/रने के बाद शव ले जाने के लिए भी एम्बुलेंस नहीं मिला।

लॉकडाउन में स्वास्थ्य विभाग ने कई बड़े दावे किए है, लेकिन जहानाबाद सहर हॉस्पिटल से एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण एक मासूम की मौ/त हो गई। बताया जा रहा है कि लॉकडाउन में एक तीन साल के बच्चे की त/बीयत खराब हो गई है। लेकिन हॉस्पिटल से ले आने के लिए कोई एंबलेंस नहींं मिल पाया। जब किसी तरह उस बच्चे को जहानाबाद सदर हॉस्पिटल लाया गया। तो डॉक्टरों ने उसे पटना रेफर कर दिया। लेकिन पटना ले जाने के लिए उसे किसी तरह का हॉस्पिटल से कोई एंबुलेंस उपलब्ध नहीं हो पाया और और ब/च्चे ने द/म तो/ड़ दिया।

बच्चा अरवल जिले के शाहपुर गांव का बताया जा रहा है। हॉस्पिटल के डॉक्टरों के द्वारा पटना रेफर कर दिए जाने के बाद बच्चे को गोद में लेकर उसकी मां रो/ती रही चि/ल्लाती रही पर कही से भी कोई भी उसकी मदद करने को आगे नहीं आया और बच्चे की मौ/त हो गई। इसके बाद इसकी सूचना पर पीपीएम स्कूल के निदेशक सुनील ने अपनी गाड़ी भेजा तब तक उस बच्चे ने द/म तो/ड़ दिया था। इस मामले में जहानाबाद डीएम नवीन कुमार ने कहा कि हमे जानकारी नहीं है। अगर इस तरह की हुई है तो कौन जिम्मेवार है उसका पता लगाया जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *