कन्हैया कुमार को बिहार कांग्रेस का जिम्मा, बनाया जा सकता है नया प्रदेश अध्यक्ष

राहुल की पसंद कन्हैया कुमार बनेंगे बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष? जानें क्यों रेस में नाम : संकट से जूझ रही कांग्रेस की बिहार इकाई पर मदन मोहन झा के इस्तीफे के बाद नये अध्यक्ष के चुनाव की जिम्मेदारी आ गयी है। करीब चार साल तक बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी निभाने के बाद मदन मोहन झा ने बृहस्पतिवार को दिल्ली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात के बाद इस्तीफा दे दिया था। प्रदेश कांग्रेस ने इस घटनाक्रम पर कोई औपचारिक बयान नहीं दिया है। पार्टी सूत्रों ने दावा किया कि अगर राहुल गांधी की इच्छा के अनुसार फैसला लिया गया तो कन्हैया कुमार भी पार्टी की पंसद हो सकते हैं।

बिहार में राजद और कांग्रेस की राहें अलग होने के पीछे एक वजह कन्हैया कुमार से जुड़ी भी बताई जा रही है जिन्हें तेजस्वी यादव का बराबर का प्रतिद्वंद्वी माना जाता है। कन्हैया कुमार भूमिहार वर्ग से आते हैं और पार्टी मानती है कि वह भाजपा नीत राजग से असंतुष्ट युवाओं में नयी ऊर्जा भर सकते हैं। हालांकि इस जाति के कुछ अनुभवी नेता भी दौड़ में हैं। इनमें श्याम सुंदर सिंह धीरज और अजीत शर्मा के नाम हैं। धीरज इस समय प्रदेश कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष हैं, वहीं शर्मा विधायक दल के नेता हैं।

कांग्रेस महासचिव तारिक अनवर ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि पिछले कुछ समय से बिहार इकाई के प्रमुख के लिए नये शख्स की जरूरत महसूस की जा रही है। वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व मंत्री तथा इस समय विधान परिषद के सदस्य झा ने शालीन तरीके से इस्तीफा देकर रास्ता साफ कर दिया है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WhattsupYOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.