कर्नल की पत्नी ने कहा- शहादत पर गर्व है, आंसू नहीं बहाऊंगी…

PATNA : कहा- वर्दी उनका जुनून थी, ऐसे में कोई उनके सर्वोच्च ब’लिदान पर अफसोस जताए, ये सही नहींश्रीनगर/जयपुर| जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में एक घर के लोगों को बंधक बनाकर बैठे आ/तंकियों को ढेर करते हुए राष्ट्रीय राइफल्स की 21वीं बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल आशुतोष शर्मा समेत 5 जांबाज श’हीद हो गए।

जयपुर में रह रहीं कर्नल शर्मा की पत्नी पल्लवी ने पति की शहादत पर गर्व जताते हुए कहा- ‘मेरे पति देश की रक्षा करते हुए श/हीद हुए। मुझे उन पर गर्व है। मैं उनकी शहादत पर आंसू नहीं बहाऊंगी। देश के लिए कु/र्बान होना सम्मान की बात है। यह उनका फैसला था, मैं उनके फैसले का पूरा सम्मान करूंगी। उनका जुनून सिर्फ उनकी वर्दी थी। ऐसे में कोई उनके सर्वोच्च ब/लिदान पर अफसोस जताए, आंसू बहाए, यह सही नहीं होगा।’

कश्मीर में तैनात एक मेजर जनरल ने बताया कि कर्नल शर्मा की दिलेरी को देखते हुए उन्हें लगातार 2018 और 2019 में सेना पदक मिला था। दूसरा पदक उन्हें आ/तंकी को मा/र गिराने के लिए मिला। वह आतंकी ग्रेनेड से हमला करने वाला था, तभी कर्नल शर्मा ने उसे झपट्टा मारकर द/बोच लिया और वहीं ढे/र कर दिया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.