पंजाबियों को सलाम, बना दिया देश का सबसे बड़ा किडनी अस्पताल, कहा- फ्री में होगा सबका इलाज

किडनी डायलिसिस का सबसे बड़ा अस्पताल; देश का पहला अस्पताल जहां कैश काउंटर नहीं, नि:शुल्क होगा इलाज : दिल्ली के बाला साहिब गुरुद्वारा में किडनी डायलिसिस के लिए देश का सबसे बड़ा अस्पताल खुल गया है। दो दिन बाद से यहां इलाज भी मिलना शुरू हो जाएगा। यह देश का पहला हाईटेक अस्पताल है, जहां कैश काउंटर नहीं है। मरीजों का इलाज नि:शुल्क होगा।

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रंबधक कमेटी (डीएसजीएमसी) इसकाे संचालित करेगी। डीएसजीएमसी के प्रमुख मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि अस्पताल में सिर्फ रोगियों के लिए रजिस्ट्रेशन काउंटर होगा। यहां 100 बेड हैं। इनमें प्लेन के बिजनेस क्लास में मिलने वाली 50 इलेक्ट्रिक चेयर शामिल हैं। एक दिन में 500 मरीजों का डायलिसिस हो सकेगा। अस्पताल में सभी मशीनें और उपकरण जर्मनी से मंगाए गए हैं। ये अत्याधुनिक तकनीक से लैस हैं।

खून साफ करने की विधि है डायलिसिस: डायलिसिस खून साफ करने की मशीनी विधि होती है। इस प्रक्रिया को तब अपनाया जाता है, जब किसी व्यक्ति के गुर्दे सही से काम नहीं कर रहे होते हैं। गुर्दे से जुड़े रोग, लंबे समय से शुगर के मरीज, हाई ब्लड प्रेशर जैसी स्थिति में डायलसिस की जरूरत पड़ती है।

मजिन्दर सिंह सिरसा ने बताया कि बाला साहिब गुरुद्वारे (Bala Sahib Gurudwara) के एक हिस्‍से में खोले गए गुरु हरिकिशन इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च किडनी डायलिसिस अस्‍पताल को अब आम लोगों के लिए खोल दिया गया है।उन्होंने बताया कि यह अपने आप में पहला ऐसा अस्‍पताल है जहां कोई कैश काउंटर नहीं होगा। सिर्फ बीमार रोगियों के लिए रजिस्‍ट्रेशन काउंटर होगा और मरीज से एक पैसा नहीं लिया जाएगा।

इस अस्‍पताल में 50 बेड और 50 हवाई जहाज के बिजनेस क्‍लास में मिलने वाली इलेक्ट्रिक चेयर हैं। इलेक्ट्रिक चेयर इसलिए लगाई गई हैं कि डायलिसिस के दौरान अगर कोई मरीज बिस्तर पर बोरियत या परेशानी महसूस करता है तो वह चेयर पर भी बैठ सकता है। उन्होंने बताया कि हॉस्पिटल में डायलिसिस की मशीन और तमाम उपकरण जर्मनी से मंगाए गए हैं। सभी मशीनें आधुनिक होने के साथ ही लेटेस्‍ट टैक्‍नोलॉजी (Latest Technology) से लैस हैं।

क्या होता है डायलिसिस (What is Dialysis)
डायलिसिस खून साफ करने की एक मशीनी विधि होती है। डायलिसिस की प्रक्रिया को तब अपनाया जाता है जब किसी व्यक्ति के गुर्दे सही से काम नहीं कर रहे होते हैं। गुर्दे से जुड़े रोगों, लंबे समय से शुगर के मरीज, हाई ब्लड प्रेशर जैसी स्थिति में कई बार डायलसिस की जरूरत पड़ती है।

अगर आप हमारी आर्थिक मदद करना चाहते हैं तो आप हमें 8292560971 पर गुगल पे या पेटीएम कर सकते हैं…. डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *