किसान का बेटा बना IAS अफसर, UPSC में दो बार हो चुका है फेल, DM बनने से पहले था IIT इंजीनियर

किसान का बेटा 2 बार हुआ था UPSC में असफल, 3rd अटेम्प्ट में बना IAS, जानें- कितनी आई थी रैंक

हम बात कर रहे हैं, IAS अधिकारी हितेश मीना की। जिन्होंने दो बार यूपीएससी परीक्षा दी और तीसरे प्रयास में इसे पास कर लिया था। किसान के बेटे आईएएस अधिकारी हितेश बचपन से ही बुद्धिमान थे। घरवाले जानते थे कि वे आगे भविष्य में परिवार का काफी बड़ा नाम करेंगे। स्कूल के दिनों में उनकी गिनती एक्सीलेंट छात्रों में होती थी, बता दें, कक्षा 12वीं और कक्षा 10वीं में उन्होंने काफी अच्छे अंकों के साथ परीक्षा पास की थी। इंटरमीडिएट यानी कक्षा 12वीं की पढ़ाई पूरी करने और जेईई को आसानी से पास करने के बाद उन्होंने IIT BHU, वाराणसी से B.Tech (सिविल इंजीनियरिंग) की डिग्री हासिल की थी।

अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद उन्होंने आईआईटी दिल्ली से ट्रांसपोर्टेशन इंजीनियरिंग में एम.टेक की डिग्री हासिल की। इसके बाद हितेश को महसूस हुआ कि उन्हें एक बार यूपीएससी की परीक्षा देनी चाहिए और फिर क्या, उन्होंने सिविल सर्विस परीक्षा के लिए पढ़ाई शुरू करने का फैसला किया।

आपको बता दें, हितेश ने अपने पहले दो प्रयासों (2016) और (2017) में प्रीलिम्स और मेन्स दोनों परीक्षाएं पास कर ली थी। ये उनके लिए बड़ी बात थी, लेकिन किस्मत को कुछ और मंजूर था। हितेश प्रीलिम्स और मेन्स में पास होने के बावजूद फाइनल लिस्ट में जगह नहीं बना पाएं थे। जिसके बाद उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी हिम्मत को बांधते हुए तीसरे प्रयास देने का विचार किया। साल 2018 में उन्होंने तीसरा प्रयास दिया और यूपीएससी प्रीलिम्स, मेन्स, इंटरव्यू में सफलता हासिल की। बता दें, तीसरे प्रयास में उनकी 417वीं रैंक आई थी और फाइल लिस्ट में 977 अंक प्राप्त हुए थे। वर्तमान में, हितेश हरियाणा कैडर गुरुग्राम में एडिशनल डिप्टी कमिश्नर कम डिस्ट्रिक्ट सिटीजन रिसोर्स इंफॉर्मेशन ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *