गरीब बाप की टॉपर बिटिया, UPPSC की परीक्षा पास कर बन गई अफसर, टॉप 10 रैंक पर जमाया कब्जा

मेरा नाम कामिनी कुमारी है और मैं मूल रूप से उत्तर प्रदेश के झांसी की रहने वाली हूं. हम बहुत गरीब परिवार से आते हैं. पिताजी को पढ़ाई लिखाई के बाद लैब अटेंडेंट की नौकरी मिली. किसी तरह घर का गुजारा चल जाता था. मैं बचपन से ही पापा को संघर्ष करते देखा था. यही कारण था कि मैंने तय कर लिया था कि मुझे हर हाल में अफसर बनना है. साल 2021 में मैं उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग लिया और सफल रही. मैं आज एक अफसर के रूप में कार्यरत हूं और यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन की तैयारी कर रही हूं. मेरा लक्ष्य आईएएस आईपीएस बनना है.

कामयाबी तो दुनिया में बहुत से लोग पाते हैं, लेकिन जो बच्चा अपने माता-पिता के प्रोफेशनल ओहदे से ऊंचा ओहदा पाता है, उसकी कामयाबी की खुशी ही अलग होती है. कामनी के पिता मेडिकल कॉलेज में लैब अटेंडेंट थे और मां गृहणी. कामनी अपने भाई-बहनों में सबसे बड़ी हैं. उनका छोटा भाई उत्तर प्रदेश पुलिस में सिपाही हैं. छोटी बहन फिलहाल पढ़ाई कर रही हैं.

शुरुआती शिक्षा झांसी के ज्ञान स्थली पब्लिक स्कूल से 
कामनी की शुरुआती शिक्षा झांसी के ज्ञान स्थली पब्लिक स्कूल से हुई. फिर झांसी से ही कंप्यूटर साइंस में बीटेक एवं बीआईईटी किया है. उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) ने 19 अक्टूबर को 678 पदों लिए रिजल्ट जारी किया. जिसमें कुल 627 उम्मीदवार सफल घोषित किए गए है. इस रिजल्ट में टॉप 10 में दो लड़कियों ने जगह बनाई है. कट-ऑफ अंक आयोग की आधिकारिक वेबसाइट जल्द जारी किया जाएगा.

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *