राम मंदिर : लालू-नीतीश अयोध्या जाएंगे या नहीं अब तक नहीं हुआ फाइनल, निमंत्रण पत्र लेने से इंकार

PATNAनीतीश अयोध्या जाएंगे कि नहीं इस पर संशय; चौपाल ने कहा नीतीश, लालू से समय मांगा था पर मिला नहीं : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भगवान श्रराम की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में 22 जनवरी को अयोध्या जाएंगे या नहीं, फिलहाल इस पर भारी संशय है। दरअसल, इस बारे में अभी तक न तो कोई चर्चा है, न ही मुख्यमंत्री का ऐसा प्रोग्राम तय हुआ है। इस बारे में चौतरफा गजब की चुप्पी है। हां, राजनीतिक गलियारे में इसका विश्लेषण जरूर हो रहा है।

नीतीश को निमंत्रण मिला : जनता दल यूनाइटेड के दिग्गज नेता केसी त्यागी ने नीतीश जी को मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष के नाते प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का निमंत्रण प्राप्त हुआ है। अब नीतीश कुमार को इसपर फैसला लेना है कि वे अयोध्या जाएंगे या नहीं जाएंगे, पार्टी उनके फैसले से जल्द अवगत कराएगी।दूसरी ओर जदयू के तमाम बड़े नेता अयोध्या के धार्मिक जलसा को भाजपा व संघ परिवार के राजनीतिक फायदा का आयोजन के रूप में प्रचारित करते रहे हैं।

नीतीश कुमार को नजदीक से जानने वाले लोगों का कहना है कि नीतीश कुमार अयोध्या मंदिर जरूर जाएंगे. नीतीश कुमार देश में एकमात्र ऐसे नेता है जो लीक से हटकर राजनीति करते हैं. आपको याद होगा कि महागठबंधन में रहते हुए उन्होंने रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन दिया था. नोटबंदी का समर्थन किया था. एयर स्ट्राइक को सही बताया था. इतना ही नहीं बीजेपी में रहते हुए उन्होंने तीन तलाक कानून और सीएए और एनआरसी का विरोध किया था।

दूसरी ओर राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव को लेकर अयोध्या मंदिर कमेटी के सदस्य और बिहार के नेता कामेश्वर चौपाल ने बताया कि हम लोगों ने लालू यादव को निमंत्रण कार्ड देने के लिए समय मांगा था लेकिन हमें समय देने से इनकार कर दिया गया. हमें राबड़ी आवास से लौटा दिया गया।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और WHATTSUP,YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *