मछली पालन में नंबर 1 बनेगा बिहार का मिथि​ला क्षेत्र, कोसी में देसी-विदेशी मछलियों का होगा पालन

PATNA- आत्मनिर्भरता: कोसी में देसी-विदेशी मछलियों का होगा पालन, आंध्रप्रदेश से ज्यादा पैदा होगी, इकाई लगाने पर अनुदान मिलेगा : कोसी क्षेत्र में मछली पालन की अपार संभावनाए हैं। अब तक क्षेत्र के लोग छोटे स्तर पर मछली पालन करते आ रहे हैं। मगर, अब यहां वृहद स्तर पर मछली पालन होना है। सरकार कोसी क्षेत्र में देसी और विदेशी मछलियों का पालन कराएगी।

केंद्र और राज्य सरकार काफी समय से कह रही कि इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर मछली पालन किया जा सकता है। इस दिशा में अब काम शुरू हो गया है। सहरसा जिले में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना और मुख्यमंत्री मत्स्य विकास योजना से बड़े स्तर पर तालाब बनवाए जा रहे हैं। इतना ही नहीं सरकार मछलियों के भंडारण के लिए जिला मुख्यालय में 10 एमटी क्षमता वाला आइस प्लांट लगवा रही है। एक शीत भंडार यानी कोल्ड स्टोरेज भी बनाया जाना है। इसके बाद सूबे के लोगों की आंध्रप्रदेश पर निर्भरता कम हो जाएगी। अब तक आंध्रप्रदेश से मछलियां यहां आती रहीं हैं। अब सहरसा जिले की मछलियों का सूबे के अलावा पड़ोसी राज्यों में निर्यात किया जाएगा।

आइस बॉक्स एवं कोल्ड स्टोर बनाने पर सरकार दे रही पैसे
मछलियों के लिए आइस बॉक्स एवं कोल्ड स्टोर बनाने के लिए सरकार अनुदान दे रही है। पुरुष-महिला आवेदक को 40 प्रतिशत एवं एससी-एसटी वर्ग के आवेदक को 60 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। पहले चरण में प्रमंडल मुख्यालय में कोल्ड स्टोर बनाया जाएगा। दूसरे चरण में जिला मुख्यालय में आइस प्लांट और कोल्ड स्टोर बनाया जाना है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और Whattsup, YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *