मैट्रिक में फेल हुआ तो फंदे पर झूला : 5 अप्रैल को बिहार बोर्ड के रिजल्ट के बाद से तनाव में था किशोर

जमुई में एक किशोर ने मैट्रिक परीक्षा में फेल होने पर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। 5 अप्रैल को मैट्रिक परीक्षा का परिणाम आने के बाद से वह तनाव में था और 6 अप्रैल की शाम उसने जान दे दी। घटना की जानकारी तब मिली जब देर शाम मृतक का छोटा भाई ट्यूशन पढ़कर घर लौटा। कमरा बंद देख उसने अपने पिता को इस बात की जानकारी दी, जिसके बाद ने कमरे का दरवाजा तोड़ा। दरवाजा टूटते ही सब सन्न रह गए। कमरे में फंदे से उसकी लाश लटक रही थी। इधर, सूचना मिलते ही स्थानीय थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। मृतक की पहचान सरैया गांव निवासी राजेश यादव के पुत्र विपिन कुमार (17 वर्ष) के रूप में की गई है।

छोटे भाई के साथ दूसरे घर में रहता था विपिन
विपिन अपने छोटे भाई के साथ चितोचक गांव में ही स्थित दूसरे मकान में रहकर पढ़ाई करता था। स्थानीय स्कूल BL शर्मा हाई स्कूल में वह पढ़ता था। मृतक के पिता ने बताया कि घटना के वक्त वहां कोई नहीं था। छोटा बेटा शाम में ट्यूशन पढ़ने चला गया था। ट्यूशन के बाद जब वह घर लौटा तो भाई का कमरा काफी देर से बंद देखा तो अपने पिता को फोन कर इस बात की जानकारी दी।

कमरे में फंदे से लटक रही थी विपिन की लाश
फोन के बाद आननफानन में विपिन के पिता दूसरे मकान में पहुंचे। किसी तरह कमरे के दरवाजे को तोड़कर जब वे अंदर घुसे तो सन्न रह गए। विपिन ने फांसी लगा ली थी। उसका शव रस्सी के सहारे कमरे में लटका हुआ था। इसके बाद तो घर में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। इधर सूचना मिलते ही स्थानीय थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

अगर आप हमारी आर्थिक मदद करना चाहते हैं तो आप हमें 8292560971 पर गुगल पे या पेटीएम कर सकते हैं…. डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *