14 को मनेगी मकर संक्रांति, सूर्यास्त तक संक्रांति विशेष पुण्यकाल रहेगा, सूर्यदेव की पूजा करें

14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी। इस दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करते हैं। इस दिन मकर राशि में सूर्य दिन में 2 बजकर 37 मिनट पर प्रवेश करेंगे। अतः सूर्योदय से सूर्यास्त तक संक्रांति विशेष पुण्यकाल रहेगा। इस दिन सूर्यदेव की पूजा का विधान है। पौष मास में मनाएं जाने वाले इस पर्व में माघ मास का भी शुभारंभ हो जाता है। पंडित श्रीपति त्रिपाठी के अनुसार मकर राशि में 5 ग्रहों का संयोग है। मकर संक्रांति पर मकर राशि में कई महत्वपूर्ण ग्रह एक साथ गोचर हाेंगे। इस दिन सूर्य, शनि, गुरु, बुध और चंद्रमा मकर राशि में रहेंगे, जो शुभ योग का निर्माण करते हैं। इसीलिए इस दिन किया गया दान और स्नान जीवन में बहुत ही पुण्य फल प्रदान करता है और सुख समृद्धि लाता है।

सूर्यदेव समेत सभी नवग्रहों की पूजा करें
इस दिन सुबह उठकर स्नान करना चाहिए। यदि पवित्र नदी में स्नान करना संभव न हो तो घर में जिस जल से स्नान करें उसमें गंगाजल की कुछ बूंदें मिला लें। स्नान के बाद पूजा आरंभ करें। सूर्य देव समेत सभी नव ग्रहों की पूजा करें। इसके बाद जरूरतमंदों को दान दें। इस पर्व पर खिचड़ी का सेवन करना भी उत्तम माना गया है, इसलिए इस पर्व को खिचड़ी का पर्व भी कहा जाता है। इस दिन खिचड़ी का दान भी दिया जाता है।

दान पुण्य के कार्यों में रुचि लेनी चाहिए
मकर संक्रांति पर मन में अच्छे विचार रखने चाहिए। दान पुण्य के कार्यों में रुचि लेनी चाहिए। इस दिन किया गया दान कई गुना लाभ प्रदान करता है। मकर संक्रांति पर बुजुर्गों का सम्मान करना चाहिए। पिता का अाशीर्वाद लेना चाहिए। ऐसा करने से सूर्य देव प्रसन्न होते हैं। इस दिन पतंग भी उड़ाने की कहीं-कहीं परंपरा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *