बिहार सरकार का फैसला- सरकारी बैठकों में अब पेस्ट्री-बर्गर नहीं, भूंजा खाएंगे मंत्री और अफसर

बिहार सरकार के नए फैसले से वरीय अधिकारियों को झटका लगा है। बताया जाता है कि पैसे खर्च करने के लिए राज्य सरकार ने कुछ नियम बनाए हैं। अधिकारियों से कहा गया है कि सख्ती से इसका पालन किया जाय। अन्यथा कार्रवाई की जाएगी

राज्य में सरकारी बैठकों में मंत्री से लेकर अधिकारी तक अब भूंजा व फल खाते दिखेंगे। सरकार ने बैठकों में रेस्टोरेंट के महंगे नाश्ते और जंक फूड के साथ-साथ प्लास्टिक बोतल वाले पानी के उपयोग पर भी रोक लगा दी है। खाने की बर्बादी रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है।

मतलब पेस्ट्री, बर्गर, पेटीज और सैंडविच की बजाए मंत्रियों-अधिकारियों को फल, भूंजा, बिस्किट और सरकारी कैंटीन में बनी मिठाई या नमकीन परोसी जाएगी। गुरुवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने विभागीय प्रधान सचिवों को इस व्यवस्था का सख्ती से पालन करने का आदेश दिया। मुख्य सचिव ने कहा कि अमूमन मंत्री व अधिकारी जंक फूड से परहेज करते हैं, जबकि सामान्यत: बैठकों के दौरान नाश्ते के तौर पर यही परोसा जाता है। इसलिए भविष्य में नाश्ते के तौर पर इसका इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *