मोकामा रेल फैक्ट्री में फिर से काम होगा शुरू, भारत वैगन में खुलेगी मेंटेनेंस फैक्ट्री

मोकामा रेल फैक्ट्री में फिर से काम होगा शुरू, भारत वैगन में खुलेगी मेंटेनेंस फैक्ट्री : भारत वैगन एंड इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड की मोकामा इकाई को रेलवे जल्द ही बड़ी खुशखबरी देगा। बंद पड़ी भारत वैगन इकाई की जमीन पर रेलवे रैक की ओवरहॉलिंग एवं मेंटेनेंस कार्य के लिए कारखाना स्थापित करेगा। मोकामा के अतिरिक्त मुजफ्फरपुर स्थित भारत वैगन इकाई को भी इसमें शामिल करने की योजना है।

मंगलवार को एडीआरएम रवीश कुमार और भारत वैगन का सीएमडी एमके राय के नेतृत्व में पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारियों और विभिन्न विभागों के इंजीनियरों का एक दल ने मोकामा परिसर का दौरा किया। वर्कशॉप और आवासीय परिसर का निरीक्षण किया। रैक ओवरहॉलिंग एवं मेंटेनेंस कार्य कर कारखाना स्थापित करने की संभावना और कर्मियों की आवासीय सुविधाओं की व्यवस्था का भी जायजा लिया। इस दौरान ड्रोन से पूरे परिसर की वीडियोग्राफी की गई। भारत वैगन यूनिट के हेड उदय शंकर मिश्रा ने कहा कि ओवरहॉलिंग एवं पूर्ण मेंटेनेंस कार्य को कारखाने के लिए यह आदर्श परिसर होगा। आज का निरीक्षण उसी दिशा में है। फिलहाल पूरी प्रक्रिया प्रस्ताव के स्तर पर है और अंतिम निर्णय के लिए अभी कई प्रकार की स्वीकृतियां लेनी होंगी। निरीक्षण रिपोर्ट को जल्द ही पूर्व मध्य रेलवे के उच्चाधिकारियों के समक्ष पेश किया जाएगा। रेल सूत्रों के अनुसार भारत वैगन में मेमू ट्रेनों का मेंटेनेंस शुरू होने पर करीब 200 रेलकर्मी सेवाएं देंगे। इसके अतिरिक्त करीब 500 से अधिक लोगों को अनुबंध के आधार पर नौकरी मिल सकती है।


बदलता रहा है भारत वैगन का इतिहास वर्ष 1958 में बतौर निजी कंपनी स्थापित किया गया। आठ फरवरी 1962 को तत्कालीन रेलमंत्री जगजीवन राम ने औपचारिक उद्घाटन किया था। भारत वैगन का राष्ट्रीयकरण 1978 में हुआ। भारत भारी उद्योग निगम की इकाई के तौर पर काम कर रही इस कंपनी को 2008 में रेलवे द्वारा अधिग्रहण किया गया। 13 अगस्त, 2008 को केंद्र सरकार के भारी उद्योग मंत्रालय ने कंपनी का प्रशासनिक नियंत्रण रेलवे को हस्तांतरित कर दिया। हालांकि, 23 अगस्त 2017 को केंद्र सरकार ने कंपनी को बंद करने की घोषणा कर दी। अब एक बार फिर भारत वैगन एक नया रूप लेने की ओर बढ़ा है। रेलवे सूत्रों का कहना है इससे स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.