मुम्बई में फंसे यूपी-बिहार के लोगों को आने में नहीं होगी परेशानी, फ्री बस चलाने का हुआ ऐलान

अगर आप यूपी-बिहार के नागरिक हैं और मुम्बई में लाकडाउन के दौरान फंसे हुए हैं तो आपके लिए खुशखबरी है। जानकारी अनुसार इन गरीब लोगों को अपने घर तक पहुंचाने के लिए फ्री बस सेवा शुरू की जाएगी।

यू ट्यूब पर जारी एक विडियो के अनुसार बस मालिक विनय दूबे ने ऐलान किया है कि उनकी कंपनी की ओर से 60 बसों का फ्री परिचालन किया जाएगा। अगर लाकडाउन पंद्रह से खुलता है तो इन गरीब लोगों को वापस घर जाने में कोई परेशानी नहीं होगी। इनकी माने तो यूपी, बिहार, मध्यप्रदेश सहित उन सभी राज्य के लोगों को इस बस का लाभ मिल सकता है जो मुम्बई से यूपी-बिहार रूट के रहने वाले हैं। विनय दूबे ने बताया कि उन्होंने राज्य और केंद्र सरकार को इस बाबत प्रस्ताव दिया है कि हम इन लोगों को फ्री में इनके घर तक पहुंचाना चाहते हैं। यह ऐसे लोगों हैं जिनके पास अभी ना तो काम है और ना घर लौटने के लिए पैसे।

कोरोना का हॉटस्पॉट बना मुंबई का वर्ली, मिले 55 नए मरीज : महानगर के जी साउथ वॉर्ड के अंतर्गत आने वाला वर्ली इलाका को/रोना वा/यरस से प्रभावितों का हॉटस्पॉट बन गया है। यहां एक दिन में 55 नए मरीज पाए गए हैं। एक दिन में एक वॉर्ड में कोरोना मरीजों की यह सबसे अधिक संख्या है। मुंबई में बुधवार को कोरोना के 106 नए मामले आए। अब यहां इन मरीजों की कुल संख्या 696 हो गई है। यहां भी मरीजों की मौ/त हो गई। जी साउथ वॉर्ड में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 133 हो गई है। लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए जानकार आशंका जताने लगे हैं कि यहां अब वायरस संक्रमण का तीसरा स्टेज आ गया है। घनी बस्ती को देखते हुए यह खतरनाक है। बता दें कि वर्ली कोलीवाडा में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज पाए गए हैं।

यहां पुलिस और बीएमसी ने मिलकर ज्यादातर परिसरों को सील कर दिया है। वॉर्ड ऑफिसर शरद उघडे ने कहा, ‘हम यहां कोरोना का संक्रमण कम करने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए यहां सैनेटाइजेशन किया जा रहा है, दवाओं का छिड़काव भी हो रहा है। हेल्थ डिपार्टमेंट के लोग घर-घर जा कर लोगों की जांच कर रहे हैं।’

मुंबई में मास्क लगाना अनिवार्य : मुंबई में अब सार्वजनिक स्थान पर निकलने से पहले मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। बीएमसी कमिश्नर प्रवीण परदेशी ने यह आदेश जारी करते हुए चेतावनी दी है कि यदि बिना मास्क लगाए कोई व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर पाया गया, तो उसकी गिरफ्तारी भी हो सकती है। तीन लेयर का या घर में बना अच्छी क्वॉलिटी का मास्क पहनना जरूरी किया गया है। रुमाल को मास्क के तौर पर नहीं इस्तेमाल किया जा सकता है।

11 लोगों के लिए क्वारंटाइन सेंटर : बीएमसी ने 24 वॉर्डों में लोगों को क्वारंटाइन करने की व्यवस्था की है। इन सेंटरों में करीब 11,000 लोगों को रखा जाएगा। इन सेंटरों में कोरोना मरीजों की संपर्क में आने वाले ‘हाई और लो रिस्क’ वाले मरीजों को रखा जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *