मेघालय नवोदय विद्यालय में बिहारी छात्रों के साथ मा’रपीट, मधुबनी के 15 बच्चों को पी’टा

जवाहर नवोदय विद्यालय रांटी में हुए वि’वाद के कारण मधुबनी के छात्रों के साथ मेघालय में छात्रों ने मा’रपीट की है। शनिवार को एक दर्जन से अधिक अभिभावकों ने रांटी स्थित विद्यालय पहुंचकर जमकर हंगामा किया। साथ ही अपने बच्चों को जल्द से जल्द सुरक्षित मेघालय से मधुबनी लाने की मांग की है। इस दौरान अभिभावकों ने विद्यालय प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा कि हमारे बच्चे सुरक्षित नहीं लौटे तो विद्यालय प्रबंधन के खिलाफ हम सभी आंदोलन करेंगे। परिजन रंजीत कुमार रमण, अशोक कुमार साफी, राजा कुमार गुप्ता ने बताया कि उनके बच्चों के साथ मेघालय में लगातार मारपीट की जा रही है। 29 नवम्बर को बच्चों के साथ अ’सहनीय अभद्र व्यवहार किया गया है। जिससे बच्चों के जा’न मा’ल के नुकसान की आशंका बनी हुई है। वहीं अभिवावक सुभाष चन्द्र यादव, रामाशीष महतो, अशोक प्रसाद यादव, अवधेश ठाकुर, अजय कुमार साफी ने कहा कि सभी बच्चों को जल्द से जल्द बुलाया जाए। साथ ही सभी की परीक्षा भी स्थानीय विद्यालय में ही लेने की व्यवस्था की जाए। परिजनों ने कहा कि भविष्य में बच्चों को नार्थ इस्ट के अलावे अन्य राज्यों में परीक्षा के लिए भेजने की व्यवस्था की जाए।

प्राचार्य त्रिपुरारी प्रसाद सिंह ने बताया कि 26 नवम्बर को मधुबनी में मेघालय के छात्रों के साथ हुई मा’रपीट के रिएक्शन में मेघालय नवोदय विद्यालय के छात्रों ने मधुबनी के छात्रों के साथ मा’रपीट की है। जिसकी जानकारी होते ही छात्रों के अभिभावकों ने विद्यालय पहुंच कर अविलंब छात्रों को वापस मधुबनी बुलाने की मांग करने लगे। प्राचार्य ने कहा कि इस संबंध में अभिभावकों की ओर से डीएम के नाम से लिखित आवेदन दिया गया है। जिसमें बताया है कि 2 नवम्बर को मधुबनी के छात्रों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए मारपीट की गई। वहीं 29 नवम्बर को भी मधुबनी के छात्रों के साथ अ’सहनीय अभद्र व्यवहार किया गया है।

इस घटना की पुष्टि करते हुए विद्यालय के प्राचार्य त्रिपुरारी प्रसाद सिंह ने बताया कि मधुबनी जवाहर नवोदय विद्यालय से कुल 15 छात्रों को मेघालय जवाहर नवोदय विद्यालय भेजा गया है। सभी छात्र 9वीं वर्ग के हैं। जहां मधुबनी के माइग्रेशन के छात्रों के साथ मेघालय नवोदय विद्यालय के छात्रों के द्वारा मा’रपीट करने की सूचना मिली है। लेकिन घटना की सूचना मिलने के साथ ही मेघालय विद्यालय प्रशासन व पुलिस प्रशासन त्वरित कार्रवाई करते हुए मधुबनी के सभी बच्चों को सुरक्षित ढंग से दूसरे विद्यालय में रखा है। प्राचार्य त्रिपुरारी प्रसाद ने कहा कि इस कारण मधुबनी के सभी बच्चे के जा’न मा’ल को खतरा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *