नेपाल में रूकने का नाम नहीं ले रहा बारिश, घटने के बाद फिर बढ़ने लगा बिहार में बाढ़ का पानी

PATNA : नेपाल में मूसलधार बारिश से उत्तर बिहार की नदियां एक बार फिर उफान पर हैं. बूढ़ी गंडक, बागमती और लालबकेया सहित कई नदियों का जलस्तर बढ़ गया है. नदियों का जलस्तर बढ़ने से दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी फैल गया है. वहीं, उत्तर बिहार में बुधवार को ठनका गिरने से पांच लोगों की मौ’त हो गयी. इनमें पूर्वी चंपारण में चार और सीतामढ़ी में एक व्यक्ति शामिल है. इधर, मोतिहारी, सीतामढ़ी और दरभंगा में डूबने से एक-एक की मौ’त हुई है.

गंड़क बराज से बुधवार को एक लाख 9 हजार क्यूसेक पानी गंड़क में छोड़ा गया है. इससे बगहा के रामनगर और हरनाटांड़ के कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया. भारी बारिश के कारण मसान नदी उफान पर है. गौनाहा में पंडई सहित कई नदियों का पानी कई गांवों में पानी घुस गया है. सिकटा में नदियां खतरे के निशान से ऊपर हैं. वहीं, मधुबनी जिले में कमला, कोसी, भूतही बलान और अधवारा समूह सहित अन्य नदियां फिर उफान पर हैं. हालांकि, कमला के जलस्तर में मंगलवार की रात से उतार-चढ़ाव जारी है. पूर्वी चंपारण में बूढ़ी गंडक में पानी आने से बंजरिया का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है. चैलाहां-फुलवार मार्ग पूरी तरह से बंद हो गया है. ढाका-शिवहर के बलवाघाट पर पानी फैल गया है, जिससे ढाका का शिवहर से संपर्क भंग हो गया है. इधर, सुगौली प्रखंड क्षेत्र में एक बार फिर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.

सीतामढ़ी जिले में बागमती का जलस्तर कई जगहों पर खतरे के निशान से ऊपर चला गया है. अधवारा समूह की नदियों में भी उफान तेज हो गया है. बुधवार को बोखड़ा प्रखंड की चकौती पंचायत के कई गांव जलमग्न हो गये. सीतामढ़ी शहर का निचला इलाका भी जलमग्न हो गया है. 27 जुलाई तक के लिए जिले के सभी सरकारी और गैर सरकारी विद्यालयों को बंद रखने का आदेश दिया गया है.

नरकटियागंज प्रखंड के गौरीपुर मंझरिया गांव में बुधवार को बाढ़ के पानी में घिरने से बीमार बहारन मांझी (45) की मौ’त हो गयी. अचानक तबीयत बिगड़ने पर परिजन अस्पताल ले जाने की तैयारी कर ही रहे थे. इसी बीच, गांव में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया. इससे अफरातफरी का माहौल कायम हो गया. लोग खाट से गांव के बाहर पहुंचे, लेकिन गौरीपुर सतवरिया मुख्य पथ पर पानी का तेज बहाव होने के कारण बहारन को अस्पातल नहीं पहुंचाया जा सका और उसकी मौत हो गयी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *