भारत को ब’र्बाद करने वाला जा’लिम मुखिया गिरफ्फतार, मस्जिद में छिपे थे 25 जमाती, 3 को था कोरोना

नेपाल में 24 तबलीगी जमातियों को छिपाने के मामले में जालिम मुखिया को नेपाली पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। जांच में तीन जमातियों में कोरोना संक्रमण मिलने से नेपाल में ह/ड़कंप की स्थिति है। नेपाली मीडिया के अनुसार एक अप्रैल को रक्सौल सीमा पर भारतीय सुरक्षा कर्मियों ने जमातियों को रोकने का प्रयास किया था, लेकिन सभी जमाती जबरन नेपाल की सीमा में प्रवेश कर गए थे। सभी जमाती पाकिस्तान, इंडोनेशिया व भारत के हैं।

नेपाली जिला पर्सा की गांव सभा जगरनाथपुर के प्रधान जालिम मुखिया को नेपाल पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली के तबलीगी जमात में शामिल होकर लौटे जालिम मुखिया ने भारतीय व विदेशी सहित 24 तबलीगी जमातियों को छपकैया वार्ड नंबर 2 की मस्जिद व यतीमखाना की मस्जिद में रखा था। सूचना मिलते ही नेपाली पुलिस ने इनकी जांच की। जिसमें तीन कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। संक्रमितों को नारायणी अस्पताल वीरगंज के आइसोलेशन में रखा गया है।

सीमावर्ती ग्रामीण रास्ते से रक्सौल में प्रवेश करते दस लोगों को एसएसबी ने हिरासत में लिया। इसके बाद सभी को हरैया ओपी पुलिस को सौंप दिया गया। ये लोग लॉकडाउन के बाद भी नेपाल से ढाई सौ किमी की दूरी तय कर रक्सौल सीमा में पहुंचे। हरैया ओपी प्रभारी ध्रुवनारायण ने कहा कि हिरासत में लिए गए युवकों से पूछताछ जारी है। सभी बिहार के हैं। नेपाल के कल कारखानों में काम करते थे या ठेला रिक्शा चलाते थे।

नेपाल के पर्सा जिला (वीरगंज) महानगरपालिका क्षेत्र के मुख्य पथ स्थित छपकैया मोहल्ला की मस्जिद से एक सप्ताह पूर्व संदेह के आधार पर पकड़े गए 25 लोगों में से तीन कोरोना पॉजिटिव मिले। तीनों भारतीय बताए जाते हैं। लेकिन वे किस प्रदेश के हैं, इसकी जानकारी नेपाल प्रशासन ने नहीं दी है।

पर्सा जिला सहायक प्रमुख ललित कार्की ने बताया कि तीनों क्रमश: 37, 55 व 44 वर्ष के हैं। उन्होंने कहा कि मस्जिद से पकड़े लोग एक माह पूर्व विराटनगर में आयोजित जलसा में शामिल हुए थे। सभी को क्वारंटाइन किया गया था। इसमें तीन की स्थिति बिगड़ने पर नारायणी उप क्षेत्रीय अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। उसके थ्रोट स्वाब को जांच के लिए हेटौड़ा भेजा गया। तीनों में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि नेपाल के कीट जन्य रोग अनुसंधान शिक्षण संस्थान और मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड पापुलेशन नेपाल ने की है।

हालांकि, अस्पताल के चिकित्सक अभी कुछ भी नहीं बता रहे। प्रयोगशाला प्रमुख नारायण कार्की ने बताया कि थ्रोट स्वाब को पुन: जांच के लिए काठमांडू भेजा गया है।तीन लोगों में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद पर्सा जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। छपकैया मोहल्ला को सील कर दिया गया है। लोगों के आने -जाने पर पाबंदी लगा दी गई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *