दरभंगा में बनेगा नया हॉस्पिटल, नीतीश सरकार ने दिया 1.95 अरब रुपए, काम जल्द शुरू होगा

DARBHANGA : भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान के कायाकल्प के लिए 1.95 अरब स्वीकृत : राजकीय महारानी रामेश्वरी भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान, मोहनपुर आगामी 2024 तक नए लुक में दिखने लगेगा। यहां आयुर्वेद के छात्रों की बेहतर पढ़ाई के साथ-साथ लोगों के बेहतर इलाज की व्यवस्था भी हाेगी। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से 1.95 अरब रुपए की स्वीकृति दी जा चुकी है।

अगर सब कुछ ठीक रहा ताे नए सत्र से यहां 60 सीटाें पर पढ़ाई शुरू हाे जाएगी। चिकित्सा विज्ञान संस्थान के प्राचार्य डॉ. दिनेश्वर प्रसाद ने बताया कि मार्च में मोहनपुर में अस्पताल व काॅलेज की नई बिल्डिंग का एवं इनकम टैक्स चाैराहा स्थित अस्पताल में बिल्डिंग निर्माण का शिलान्यास किया जाएगा। उन्हाेंने बताया कि अस्पताल में ओपीडी की सेवा भी दी जाएगी। उन्हाेंने बताया कि 150 बेड वाले अस्पताल व काॅलेज का निर्माण हाेगा।

DEMO PHOTO

भवन निर्माण काे लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीमें तय मापदंडों के अनुसार दाेनाें स्थलाें का निरीक्षण कर रही है। निरीक्षण समाप्त होते ही भवन निर्माण का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। प्राचार्य ने बताया कि अगले सत्र से बीएएमएस की 60 सीटाें पर पढ़ाई हाेगी। इसके लिए प्रस्ताव आयुष मंत्रालय काे भेजा जा चुका है। जब अस्पताल व काॅलेज बन कर तैयार हाे जाएगा ताे सीटाें की संख्या 60 से बढ़कर 125 हाे जाएगी। पढ़ाई चालू करने के लिए फैकल्टी की बहाली शुरू हाे चुकी है। टीचराें का आना शुरू हाे चुका है। प्राचार्य सहित 58 प्राध्यापक के अलावा 83 गैर शैक्षणिक कर्मियाें के आवास के लिए बिल्डिंग का निर्माण होगा।

अतिक्रमणकारियाें ने हंगामा कर जांच टीम काे भगा दिया
प्राचार्य ने कहा कि अस्पताल व काॅलेज निर्माण में जमीन का अतिक्रमण सबसे बड़ा बाधक बना है। जमीन के अतिक्रमण व अतिक्रमणकारियों के बुलंद फैसले के कारण जांच टीम सही तरीके से निरीक्षण नहीं कर पा ही है। समय से टीम को जमीन मुहैया नहीं कराई गई ताे हाे सकता है कि स्वीकृत राशि लौट जाए। उनके स्तर पर अतिक्रमण हटाने के लिए नगर निगम व अंचल अधिकारी से पत्राचार किया जा चुका है। अभी दाे दिन पहले स्थल निरीक्षण के लिए जांच टीम गई थी। यह देख स्थानीय लोग एवं कुछ अतिक्रमणकारी एकजुट हाेकर हंगामा करने लगे। बवाल इतना बढ़ गया कि टीम काे बिना निरीक्षण और नापी कराए ही लाैटना पड़ गया। यह स्थिति विकास के लिए बाधक है।

डेली बिहार न्यूज फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें….DAILY BIHAR  आप हमे फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और Whattsup  YOUTUBE पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.