‘नीतीशजी ना घर के रहे ना घाट के’, 2024 में बिहार की जनता भाजपा को वोट देकर मुंहतोड़ जवाब देगी

पूर्णिया रैली में एक तरह से अमित शाह ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए शंखनाद कर दिया है। सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा 2014 में भी नीतीश कुमार ने हम लोगों का साथ छोड़ा था। परिणाम स्वरूप उनको सिर्फ दो लोकसभा सीटों पर जीत मिली। ना घर के रहे ना घाट के। 2024 का चुनाव आने दीजिए सब कुछ पता चल जाएगा। इस बार भी बिहार की जनता उन्हें जबरदस्त जवाब देगी। साल 2024 और 2025 में भारी बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनेगी।

पूर्णिया में रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि जैसे ही बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी वैसे ही यहां क्राइम की घटनाओं में जबरदस्त इजाफा हुआ है। एक तरह से कहा जाए तो बिहार में जंगलराज की सरकार काम कर रही है। मैं बिहार की जनता से पूछना चाहता हूं कि क्या बिहार में जंगलराज की सरकार बनी रहनी चाहिए। क्या बिहार में हत्या और अपहरण कराने वाली सरकार चाहिए। जिस सरकार का समर्थन चारा घोटाले का आरोपी लालू कर रहे हो उसे कैसे जानता राज कहा जा सकता है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पूर्णिया की सभा में 31 मिनट तक नीतीश और लालू पर बरसे। शुरुआत में नारों की धीमी आवाज पर उन्होंने कहा कि लालू के पेट में दर्द समझ में आता है आप लोगों को क्या हुआ है। सीमांचल जिलों में आया हूं तो लालू और नीतीश के पेट में दर्द होने लगा है। वे कह रहे हैं कि झगड़ा करवाएंगे। मैं कहता हूं कि ये काम आप लोग करते हैं, मेरी जरूरत नहीं है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.