नीतीश पर भड़के श्याम रजक, कहा-JDU में 10 साल बर्बाद किया, तेजस्वी के सामने RJD में होंगे शामिल

श्याम रजक ने कहा कि मुझे कभी मंत्री पद का लोभ नहीं रहा है। श्याम रजक ने कहा है कि जदयू ने पार्टी के संविधान की धज्जियां उड़ा दी…मुझ पर आरोप था तो संविधान के अनुसार पहले कारण बताओ नोटिस देना चाहिए था

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक गतिविधि तेज हो गई है। पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में जदयू से निकाले गए पूर्व उद्योग मंत्री श्याम रजक आज तेजस्वी यादव के सामने राजद की सदस्यता ग्रहण करेंगे। इस संबंध में रजक ने कहा है कि मैंने नीतीश कुमार के साथ रहकर 10 साल बर्बाद किया।

कारण बताओ नोटिस तक नहीं दिया : श्याम रजक ने कहा है कि जदयू ने पार्टी के संविधान की धज्जियां उड़ा दी। अगर मुझ पर कोई आरोप था तो पार्टी के संविधान के अनुसार पहले कारण बताओ नोटिस देना चाहिए था। बिना नोटिस दिए सीधे पार्टी से निष्कासित कर दिया। अगर पार्टी के संविधान को नहीं मानना है तो प्राथमिक सदस्यता लेते समय शपथ क्यों दिलाते हैं?

राजद के साथ मिलकर लड़ूंगा सामाजिक न्याय की लड़ाई : श्याम रजक ने कहा कि बिहार में दलितों के साथ अत्याचार बढ़ गया है। लड़कियों के साथ वारदात हो रहे हैं। नौजवानों के पास काम नहीं है। मैंने कभी सामाजिक न्याय की लड़ाई से समझौता नहीं किया है। मैं हमेशा अपनी आवाज उठाता रहा हूं। जदयू में रहकर भी आवाज उठाई, लेकिन नीतीश कुमार के कान पर जू तक नहीं रेंगा। अब मैं अपनी पुरानी पार्टी राजद में शामिल होने जा रहा हूं। राजद के साथ मिलकर सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ूंगा।

श्याम ने कहा कि मुझे कभी मंत्री पद का लोभ नहीं रहा है। मुझे मंत्री बनाया गया तो मैंने काम किया। मुझे रात में बर्खास्त किया गया और सुबह ही मैंने सभी सुविधाओं से हाथ जोड़ लिया। जहां तक विधानसभा सीट फुलवारी से टिकट की बात है तो मुझे अपने क्षेत्र की जनता का असीम प्यार मिला है। यहां पार्टी नहीं श्याम रजक चुनाव लड़ता और जीतता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *